Forgot password?    Sign UP
पूर्व राजनयिक अरुंधति घोष का निधन

पूर्व राजनयिक अरुंधति घोष का निधन





2016-07-27 : हाल ही में, पूर्व राजनयिक अरुंधति घोष का 26 जुलाई 2016 को नई दिल्ली में निधन हो गया। घोष संयुक्त राष्ट्र में भारत की राजदूत रह चुकी हैं और व्यापक परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि (सीटीबीटी) पर वार्ता में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए उन्होंने भारत के पक्ष को जोरदार तरीके से रखा था। अरुंधति घोष का जन्म 25 नवम्बर 1939 को हुआ था। उन्होंने कोलकाता के लेडी ब्रेबॉर्न कॉलेज से स्नातक किया। वे वर्ष 1963 में भारतीय विदेश सेवा में शामिल हुईं।

उन्होंने आस्ट्रिया, मिस्र, दक्षिण कोरिया, हालैंड देशों में राजदूत के रूप में काम किया है। वे संयुक्त राष्ट्र में भी भारत की राजदूत रह चुकी हैं। उन्होंने 1998 से 2004 तक संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की सदस्य रहीं। घोष 1998 से 2001 तक संयुक्त राष्ट्र महासचिव के सलाहकार बोर्ड की भी सदस्य रहीं। वे अप्रसार और निरस्त्रीकरण पर विदेश मंत्रालय द्वारा 2007 में स्थापित एक कार्यबल की भी सदस्य रहीं। वे जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र कार्यालय में भारत की पहली स्थाई प्रतिनिधि भी थीं।

Provide Comments :





Related Posts :