Forgot password?    Sign UP
लोकतंत्र पर्यावरण सूचकांक में भारत 24वें स्थान पर |

लोकतंत्र पर्यावरण सूचकांक में भारत 24वें स्थान पर |





0000-00-00 : वाशिंगटन स्थित वर्ल्ड रिसोर्स इंस्टिट्यूट और एक्सेस इनिशिएटिव ने 21 मई 2015 को विश्व के पहले लोकतंत्र पर्यावरण सूचकांक को जारी किया गया | लोकतंत्र पर्यावरण सूचकांक में कुल 70 देशों को शामिल किया गया था जिसमे से भारत का स्थान 24वां है | सूचकांक में बाल्टिक सागर के किनारे स्थित लिथुआनिया ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है | तथा शीर्ष दस देशों में क्रमशः लिथुआनिया, लातविया, रूस, संयुक्त राज्य अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका, ब्रिटेन, हंगरी, बुल्गारिया, पनामा और कोलम्बिया रहे | लोकतंत्र पर्यावरण सूचकांक के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य :
(i) मूल्यांकन किए गए देशों में से पर्यावरण सम्बन्धी जानकारी प्राप्त करने के अधिकार को 93 प्रतीशत देशों में स्थापित किया जा चूका है |
(ii) कई देश अपने नागरिकों को बुनियादी पर्यावरण सूचना उपलब्ध कराने के क्रम में पीछे रह गए जिसके कारण उन्हें खराब रेटिंग प्राप्त हुई |
(iii) लगभग आधे या 46 प्रतीशत देशों ने अपनी राजधानी की वायु गुणवत्ता सम्बन्धी जानकारी को अब तक ऑनलाइन नहीं उपलब्ध कराया है |
(iv) शामिल किए गए देशों में से 73 प्रतीशत देशों की अदालतों में पर्यावरण सम्बन्धी मामलों पर सुनवाई होती है |
(v) कुल देशों में से 14 प्रतीशत देशों में ऐसी सुविधा है जिसके तहत कोई महिला पर्यावरण के अधिकारों का उल्लंघन होने पर न्यायालय जा सकती है |

पर्यावरण लोकतंत्र सूचकांक के बारे में : पर्यावरण लोकतंत्र सूचकांक पर्यावरण सम्बन्धी निर्णय लेने और इसमें लोगो की भागीदारी को बढाने के लिए किसी देश में बनाए गए कानूनों का आकलन करने वाला एक सूचकांक है |

Provide Comments :





Related Posts :