Forgot password?    Sign UP
चीन बना फोटोवोल्टिक राजमार्ग बनाने वाला दुनिया का दूसरा देश

चीन बना फोटोवोल्टिक राजमार्ग बनाने वाला दुनिया का दूसरा देश





2017-12-29 : हाल ही में, चीन ने सौर पैनलों के साथ सुसज्जित सड़क का परीक्षण किया है जिसमें बिजली के वाहनों के लिए निर्मित वायरलेस चार्जिंग सिस्टम और ड्रोन के लिए सेंसर मौजूद हैं। चीन ने देश की पूर्वी शेडोंग प्रांत में घरेलू निर्मित तकनीक के आधार पर पहला फोटोवोल्टेइक हाइवे बनाने की उपलब्धि हासिल की। पाठकों को बता दे की फ्रांस 2016 में सौर पैनलों के साथ सज्जित दुनिया का पहला फोटोवोल्टिक राजमार्ग लॉन्च करने वाला पहला देश था। फ्रांस के बाद, एक फोटोवोल्टिक हाइवे बनाने वाला चीन दूसरा देश बन गया है।

चीन के फोटोवोल्टिक राजमार्ग के बारे में :-

# फोटोवोल्टिक राजमार्ग सौर पैनलों का उपयोग कर बनाया गया है। इसके सतह की रक्षा करने के लिए उपरी सतह पर कंक्रीट की पतली शीट बिछाई गयी है।

# सौर पैनलों को ऊपर से जाने वाले विद्युत वाहनों को ऊर्जा स्थानांतरित करने के लिए बनाया और डिजाइन किया गया है।

# फोटोवोल्टिक राजमार्ग एक किलोमीटर क्षेत्र में 5,875 वर्ग मीटर (लगभग 63,238 वर्ग फुट) की सतह क्षेत्र पर बनाया गया है।

# इस राजमार्ग के विशेष खंड में तीन परतें हैं: शीर्ष सुरक्षात्मक है, पारदर्शी कंक्रीट से बना है, और इसके नीचे नमी को मध्य स्तर में फोटोवोल्टिक डिवाइस तक पहुंचने से बचने के लिए एक इन्सुलेटर है।

# राजमार्ग के एक किलोमीटर खंड क्षेत्र, जिसका सफलतापूर्वक परिक्षण किया गया है, 817.2 किलोवाट बिजली का उत्पादन कर सकता है और प्रत्येक वर्ष 1 मिलियन किलोवाट घंटे बिजली पैदा करने की संभावना है।

Provide Comments :




Related Posts :