Forgot password?    Sign UP
फॉर्च्यून 500 की सूची में सात भारतीय कंपनियां शामिल

फॉर्च्यून 500 की सूची में सात भारतीय कंपनियां शामिल





2016-07-24 : हाल ही में, फॉर्च्यून 500 ने 21 जुलाई 2016 को आमदनी के मामले में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों की ताजा सूची जारी की। फॉर्च्यून 500 की सूची में भारत की सात कंपनियां शामिल हैं। रिटेल बिजनेस की दिग्गज कंपनी वॉलमार्ट वार्षिक आय 48213 करोड़ डॉलर आय के साथ इस लिस्ट में पहले पायदान पर है। स्टेट ग्रिड 32,960।1 करोड़ डॉलर के राजस्व के साथ दूसरे स्थान पर रही है। वहीं चाइना नेशनल पेट्रोलियम 29,927.1 करोड़ डॉलर के राजस्व के साथ तीसरे स्थान पर है। सात भारतीय कंपनियों में चार सार्वजनिक क्षेत्र की हैं।

निजी सेक्टर की कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज सबसे आगे है। उसके बाद टाटा मोटर्स तथा राजेश एक्सपोर्ट्स सूची में हैं। भारतीय कंपनियों में सरकारी कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्प (आईओसी) 5470 करोड़ डॉलर (लगभग 3,66,490 करोड़ रुपये) के रेवेन्यू के साथ आय के साथ 161वें स्थान पर है। यह भारत की कंपनियों में सबसे ऊपर है। और एक अन्य सरकारी नवरत्न कंपनी तेल एवं प्राकृति गैस कॉर्प (ओएनजीसी) वर्ष 2016 की इस रैंकिंग सूची से बाहर हो गई है।

ओएनजीसी की जगह जेम्स और ज्वैलरी की कंपनी राजेश एक्सपोर्ट ने ले ली है। फॉर्च्यून 500 की सूच में यह कंपनी का 423वें स्थान पर है। सरकार द्वारा संचालित कंपनियों में आईओसी के बाद भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम हैं। और मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाले रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) पिछले साल के 158वें नंबर से फिसलकर 215वें पर पहुंच गई है।

बता दे की टाटा मोटर्स जो पिछले साल 254वें स्थान पर थी, वह छलांग लगाकर 226वें स्थान पर पहुंच गई है। भारत पेट्रोलियम 280 से इस साल 358वें स्थान पर फिसल गई है। जबकि हिंदुस्तान पेट्रोलियम पिछले साल 327 वें पायदान पर थी और इस साल 367वें पर है। भारतीय स्टेट बैंक पिछले साल 260 वें स्थान पर था, जो इस साल बेहतर होकर 232वें स्थान पर है।

Provide Comments :





Related Posts :