Forgot password?    Sign UP
दीपा मलिक बनी पैरालिम्पिक्स में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला

दीपा मलिक बनी पैरालिम्पिक्स में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला





2016-09-14 : हाल ही में, भारतीय एथलीट दीपा मलिक (45 वर्ष) ने 12 सितंबर 2016 को पैरालिम्पिक्स में रजत पदक जीता। पैरालिम्पिक्स में शॉटपुट में पदक जीत कर वह पहली भारतीय महिला खिलाडी बनीं। इस पदक के साथ रियो पैरालिम्पिक्स में भारत के खाते में तीन पदक हो गए। मलिक ने शॉटपुट F-53 स्पर्धा में रजत पदक जीता। उसके छह प्रयासों में 4.61 मीटर की उसकी फेंक सबसे अच्छा प्रयास थी। बहरीन की फातिमा नेधाम ने स्वर्ण पदक जीता। उसने 4.76 मीटर का सबसे अच्छा थ्रो फेंका। ग्रीस के दिमीत्र कोरोकिदा ने 4.28 मीटर के थ्रो के साथ कांस्य पदक जीता।

दीपा मलिक के बारे में :-

# भारतीय एथलीट दीपा मलिक का जन्म सोनीपत हुआ।

# वह हिमालय मोटरस्पोर्ट्स एसोसिएशन (एचएमए) (HMA) और भारतीय मोटर स्पोर्ट्स क्लब महासंघ (एफएमएससीआई) (FMSCI) के साथ जुडी हुई हैं।

# मात्र 8 दिन में दीपा मलिक ने शून्य तापमान में 1700 किलोमीटर तक ड्राइव किया और 18000 फुट ऊंची तक चढ़ाई भी की।

# वर्तमान में उन्हें पैरा चैंपियंस कार्यक्रम के माध्यम से गोस्पोर्ट्स फाउंडेशन द्वारा समर्थन किया जा रहा है।

# उन्हे खेल मंत्रालय की ओर से योजना आयोग के मानव संसाधन विकास प्रभाग द्वारा 12 वीं पांच वर्षीय योजना (2012-2017) में खेल और शारीरिक शिक्षा निर्माण में सदस्य के रूप में नामित किया गया है।

# एशियन रिकॉर्डधारी दीपा अब तक करीब 68 गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं।

# यह पदक उन्होंने 13 इंटरनेशनल व 55 नेशनल/ स्टेट लेवल की प्रतियोगिताओं में जीते हैं।

# दीपा मलिक का रजत पदक भारत का पैरालंपिक खेलों में तीसरा पदक है।

# रियो पैरालिम्पिक्स में मरियप्पन थांगवेलु और वरुण सिंह भाटी ने पुरूषों की उंची कूद में क्रमश: स्वर्ण और कांस्य पदक जीते थे।

Provide Comments :





Related Posts :