Forgot password?    Sign UP
विश्व धरोहर दिवस मनाया गया

विश्व धरोहर दिवस मनाया गया





2017-04-18 : हाल ही में, पूरे विश्व में मानव सभ्यता से जुड़े ऐतिहासिक और सांस्कृतिक स्थलों के संरक्षण के प्रति जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष 18 अप्रैल को विश्व धरोहर दिवस के रूप में मनाया जाता है। वर्ष 2017 का विषय है- सांस्कृतिक विरासत और दीर्घकालिक पर्यटन (Cultural Heritage & Sustainable Tourism)। पाठकों को बता दे की विश्व धरोहर दिवस की शुरुआत 18 अप्रैल 1982 को हुई थी जब इकोमास संस्था ने टयूनिशिया में अंतरराष्ट्रीय स्मारक और स्थल दिवस का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में कहा गया कि इस दिवस का आयोजन विश्वभर में समानांतर रूप से होना चाहिए।

इस विचार का यूनेस्को के महासम्मेलन में भी अनुमोदन कर दिया गया और वर्ष 1983 से 18 अप्रैल को विश्व धरोहर दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की गई। इससे पहले हर वर्ष 18 अप्रैल को विश्व स्मारक और पुरातत्व स्थल दिवस के रुप में मनाया जाता था। भारत के 3650 से ज्यादा प्राचीन स्मारकों में से 28विरासत स्थल घोषित किए जा चुके हैं। हालांकि केवल दिल्ली में ही 172 विरासत स्थल भारतीय पुरात्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित हैं।

बढ़ती जनसंख्या के कारण जमीन की भी बढ़ती हुई मांग को देखते हुए इन पुरातात्विक खजानों को बचाने के उद्देश्य से इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट एंड कल्चरल हेरिटेज इन्टैक ने मार्च 2011 में सैन्ट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन के साथ एक योजना बनायी। इस योजना के अंतर्गत स्कूलों द्वारा कोई एक पुरातत्व स्थल अपनाया जाएगा तथा स्कूली बच्चों में विरासत स्थलों के प्रति जागरूकता लाई जाएगी।

Provide Comments :




Related Posts :