Forgot password?    Sign UP
भारत में सफल गर्भ ट्रांसप्लांट पहली बार पुणे किया गया

भारत में सफल गर्भ ट्रांसप्लांट पहली बार पुणे किया गया





2017-05-20 : हाल ही में, पुणे स्थित गैलेक्सी हास्पिटल में देश का पहला गर्भाशय ट्रांसप्लांटेशन 19 मई 2017 की रात सफलतापूर्वक किया गया। ट्रांसप्लांट हेतु मां ने अपनी 21 वर्षीय बेटी को अपना गर्भ डोनेट किया। बेटी गर्भ धारण करने में असमर्थ थी। इसलिए मां ने ही अपना गर्भ बेटी को दिया। चिकित्सकों के दाल ने नौ घंटे तक यह ओपरेशन किया। लेप्रोस्कोपी द्वारा किया गया यह देश का पहला गर्भाशय ट्रांसप्लांटेशन है।

पाठकों को बता दें की मूल रुप से सोलापुर के अक्लकोट निवासी 21 वर्षीय महिला की शादी एक वर्ष पूर्व हुई। शादी के 6 महीने बाद महिला डाक्टर के पास चेकअप हेतु गई तो पता लगा कि महिला का गर्भाशय ही नहीं है। इससे पहले 21 वर्षीय इस महिला का चार बार एबॉर्शन हुआ। जिसकी वजह से वो अपने बच्चों को खो चुकी। ऐसे में इस महिला कामां बनना मुश्किल था। अंत में महिला की 41 वर्षीय मां ने अपना गर्भाशय बेटी को डोनेट करने का फैसला किया।

यह ट्रांसप्लांटेशन सोलापुर में संभव नहीं था। अंतत: यह रिस्क पुणे के गैलेक्सी हास्पिटल के डा। शैलेश पुणे तांबेकर और उनकी टीम ने उठाया। लैप्रोस्कोपी द्वारा किए जाने वाले इस गर्भाशय ट्रांसप्लांटेशन हेतु किन्ही भी विषम परिस्थितियों का सामना करने हेतु राज्य के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य विभाग से परमिशन ली गई। राज्य सरकार ने गैलेक्सी केयर अस्पताल को कुछ ही दिनों पहले गर्भ ट्रांसप्लांट का लाइसेंस दिया। ट्रांसप्लांटेशन हेतु 12 डाक्टरों की टीम गठित की गई। जिसमें विदेश के भी डाक्टर सम्मिलित किए गए।

Provide Comments :




Related Posts :