Forgot password?    Sign UP
भारत सरकार ने किया Li-Fi तकनीक का सफल परीक्षण

भारत सरकार ने किया Li-Fi तकनीक का सफल परीक्षण





2018-01-30 : हाल ही में, एक प्रोजेक्ट के तहत भारतीय सूचना प्रसारण मंत्रालय ने इस तकनीक का सफल परीक्षण किया है जिसे Li-Fi(लाइट फिडेलिटी) का नाम दिया गया है। इस नई तकनीक को लेकर सरकार का ऐसा मानना है कि ये देश के ऐसे इलाकों के लिए वरदान साबित होगी जहां बिजली तो है लेकिन इंटरनेट पहुंचना मुमकिन नहीं हो पाया है। Li-Fi की इस तकनीक के जरिए एक किलोमीटर तक के क्षेत्र में 10GB प्रति सेकंड की स्पीड से इंटरनेट का इस्तेमाल किया जा सकेगा। बता दें कि लाई-फाई तकनीक की खोज 2 साल पहले यूनिवर्सिटी ऑफ एडिनबर्ग में मोबाइल कम्युनिकेशन के प्रफेसर हैरल्ड हास ने की थी।

इसमें डेटा ट्रांसमिशन वाले एलईडी बल्ब और लाइट स्पेक्ट्रम की मदद से आमतौर पर वाईफाई के जरिए आप एक कमरे या फिर एक अपार्टमेंट को आराम से कनेक्ट कर सकेंगे। वहीं इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल अस्पतालों को कनेक्ट करने के लिए भी किया जा सकेगा। जहां इंटरनेट सिगनल ना होने के चलते डॉक्टरों के बीच संपर्क टूट जते हैं। साथ ही इस टेक्नोलॉजी से अंडरवॉटर कनेक्टिविटी भी मुहैया करार्इ जा सकेगी।

इस प्रोजेक्ट पर काम कर रहीं ऑटोनॉमस साइंटिफिक बॉडी एजुकेशन एंड रिसर्च नेटवर्क (ERNET) की डायरेक्टर जनरल नीना पाहुजा का कहना है कि Li-Fi का इस्तेमाल स्मार्टसिटीज में किया जा सकता है जो मॉडर्न सिटी मैनेजमेंट के लिए इंटरनेट ऑफ थिंग्स थीम पर बनाई जा रही हैं।

Provide Comments :




Related Posts :