Forgot password?    Sign UP
भारतीय मूल के वैज्ञानिक डॉ. सेतुरामन पंचनाथन बने शीर्ष अमेरिकी संस्था NSF के निदेशक

भारतीय मूल के वैज्ञानिक डॉ. सेतुरामन पंचनाथन बने शीर्ष अमेरिकी संस्था NSF के निदेशक


Advertisement :


2020-06-22 : हाल ही में, हुई घोषणा के मुताबिक भारतीय मूल के जाने माने वैज्ञानिक डॉ. सेतुरमन पंचनाथन अमेरिका की शीर्ष संस्था राष्ट्रीय विज्ञान न्यास (एनएसएफ) के निदेशक होंगे। अमेरिकी सीनेट ने 58 वर्षीय पंचनाथन के नाम पर मुहर लगाई। एनएसएफ की मौजूदा निदेशक फ्रांस कॉरडोवा का छह वर्षीय कार्यकाल अगले महीने समाप्त हो रहा है। पंचनाथन छह जुलाई को निदेशक के तौर पर कार्यभार संभालेंगे। पाठक को बता दे की पंचनाथन एनएसएफ निदेशक बनने वाले दूसरे भारतीय-अमेरिकी होंगे। इससे पहले, डॉ। सुब्रा सुरेश अक्तूबर, 2010 से मार्च, 2013 तक यह जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। एनएसएफ विज्ञान क्षेत्र में निधि प्रदान करने वाली शीर्ष अमेरिकी संस्था है, जिसका सालाना बजट 7.4 अरब डॉलर है।

डॉ. सेतुरमन पंचनाथन के बारे में :-

# डॉ सेतुरमन पंचनाथन ने 1986 में आईआईटी मद्रास से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में मास्टर डिग्री हासिल की थी और फिर 1989 में ओटावा विश्वविद्यालय के इलेक्ट्रिकल और कंप्यूटर इंजीनियरिंग से पीएचडी की थी।

# इसके बाद पंचनाथन 1997 तक ओटावा में एक प्रोफेसर के रूप में कार्यरत रहे और विश्वविद्यालय के दृश्य कंप्यूटिंग और संचार प्रयोगशाला की स्थापना की।

# 1997 में ही एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी (एएसयू) में शामिल हुए और 2006 में स्कूल ऑफ कंप्यूटिंग एंड इन्फॉर्मेटिक्स के संस्थापक निदेशक बने।

# 2014 में पंचनाथन को राष्ट्रीय विज्ञान बोर्ड (एनएसबी) में रणनीतिक समिति का अध्यक्ष बनाया गया था।

# उन्होंने नवाचार और उद्यमिता पर राष्ट्रीय सलाहकार परिषद के सदस्य के रूप में भी कार्य किया।

# पंचनाथन एसोसिएशन ऑफ रिसर्च ऑन पब्लिक एंड लैंड ग्रांट यूनिवर्सिटीज के चेयरमैन और ग्लोबल फेडरेशन ऑफ कंपिटीटिव काउंसिल्स के डग डौसी के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के वरिष्ठ सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था। फिलहाल, वे एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी में कार्यकारी उपाध्यक्ष और मुख्य अनुसंधान एवं नवोन्मेष अधिकारी के रूप में कार्य कर रहे हैं। वे इसी यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर कॉग्निटिव यूबिकिट्स कंप्यूटिंग के संस्थापक निदेशक भी हैं।

Provide Comments :


Advertisement :