Forgot password?    Sign UP
भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनी

भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनी





2016-12-21 : फॉर्ब्स मैगजीन द्वारा हाल ही में जारी आंकड़ों के अनुसार भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गयी। भारत को यह उपलब्धि 150 साल में पहली बार प्राप्त हुई है। अर्थव्यवस्था के आकार के मामले में ब्रिटेन भी अब भारत से पीछे है। भारत अमेरिका, चीन, जापान व जर्मनी के बाद पांचवीं सबसे बड़ी जीडीपी बन गया है। पिछले 25 साल में भारत की तेज इकॉनॉमिक ग्रॉथ और वर्ष भर में पाउंड के मूल्ये में आई कमी के कारण यह परिवर्तन हुआ है। इसका कारण ब्रिटेन के यूरोपियन यूनियन से अलग होने और भारत की तेज विकास दर को माना जा रहा है।

फॉर्ब्स मैगजीन की रिपोर्ट के अनुसार भारत द्वारा 2020 तक ब्रिटेन की जीडीपी को पार करने का अनुमान था। पिछले 12 महीने में पाउंड के मूल्यर में लगभग 20 प्रतिशत की कमी ने यह 2016 में कर दिया। ब्रिटेन की 1।87 ट्रिलियन पाउंड की जीडीपी एक डॉलर के मुकाबले 0.81 पाउंड की एक्सीचेंज रेट पर 2.29 ट्रिलियन डॉलर में बदलती है। भारत की 153 ट्रिलियन रुपये की जीडीपी एक डॉलर के मुकाबले 66.6 रुपये से बदलने पर 2.30 ट्रिलियन डॉलर होती है।

इकॉनॉमिक थिंक टैंक सेंटर फॉर इकॉनॉमिक्सि एंड बिजनेस रिसर्च (सीईबीआर) को दिसंबर 2011 में पूर्वानुमान था कि भारत 2020 में दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यिवस्थाक बन जाएगा। फॉर्ब्से की रिपोर्ट के अनुसार ब्रिटेन और भारत के मध्य इस अंतर के और बढ़ने की संभावना व्यक्त की गयी है। भारत 6-8 प्रतिशत सालाना की दर से प्रगतिशील है, वहीं ब्रिटेन की विकास दर 2020 तक 1-2 प्रतिशत के बीच रहने का अनुमान है। आठ अक्टूाबर 2016 को अंतरराष्ट्रींय मुद्रा कोष ने भी इस वित्ती।य वर्ष के अंत तक ब्रिटेन के भारत से पीछे रह जाने की संभावना व्यक्त की थी।

Provide Comments :





Related Posts :