Forgot password?    Sign UP
कर्नाटक भारत का सबसे भ्रष्ट राज्य : सर्वे

कर्नाटक भारत का सबसे भ्रष्ट राज्य : सर्वे





2017-04-28 : हाल ही में, नीति आयोग द्वारा 27 अप्रैल 2017 को जारी एक सर्वेक्षण रिपोर्ट में कर्नाटक देश का सबसे अधिक भ्रष्ट राज्य पाया गया। इस सर्वेक्षण में सरकारी कामों में दी जाने वाली रिश्वत के आधार पर भ्रष्टाचार तय किया गया था। नीति आयोग के सेंटर फॉर मीडिया स्टडीज की 11वीं इंडिया करप्शन स्टडी-2017 रिपोर्ट में कहा गया है कि इन राज्यों में सार्वजनिक सेवाओं के लिए जनता को रिश्वत देनी पड़ती है। इस सर्वेक्षण में देश के 29 में से 20 राज्यों को शामिल किया गया था। सर्वेक्षण के आधार पर हिमाचल प्रदेश, केरल और छत्तीसगढ़ सबसे कम भ्रष्ट राज्य हैं। वहीं कर्नाटक के बाद आन्ध्र प्रदेश, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, जम्मू-कश्मीर और पंजाब सबसे अधिक भ्रष्ट राज्यों की सूची में शामिल हैं।

इस सर्वेक्षण में 20 राज्यों के शहरी और ग्रामीण इलाके के 3,000 लोगों की राय ली गई। पिछले एक वर्ष में लगभग करीब एक तिहाई लोगों को एक बार सरकारी काम कराने के दौरान भ्रष्टाचार का सामना करना पड़ा। वर्ष 2005 में कराये गये सर्वेक्षण में 53 प्रतिशत लोगों ने रिश्वत देने की बात स्वीकार की थी। रिपोर्ट में व्यक्त अनुमान के अनुसार वर्ष 2017 में 20 राज्यों के 10 सरकारी महकमों में लोगों ने 6,350 करोड़ रुपये घूस के तौर पर दिए जबकि 2005 में यह आंकड़ा 20,500 करोड़ रुपये था।

पिछले वर्ष 31 प्रतिशत लोगों को स्कूल, अदालत, बैंक या अन्य कामों के लिए 10 रुपये से लेकर 50 हजार रुपये तक की रिश्वत देनी पड़ी। वर्ष 2005 में 53 प्रतिशत लोगों को रिश्वत देनी पड़ती थी अर्थात् भ्रष्टाचार में 22 प्रतिशत की कमी आयी है। इस सर्वेक्षण में जिन सेवाओं को मानक माना गया, उनमें खाद्य आपूर्ति, बिजली, पानी, अस्पताल, स्कूल, पुलिस, अदालत, बैंक, जमीन रजिस्ट्रेशन और टैक्स शामिल हैं।

Provide Comments :





Related Posts :