Forgot password?    Sign UP
यूनेस्को ने शारजाह को वर्ल्ड बुक कैपिटल-2019 घोषित किया

यूनेस्को ने शारजाह को वर्ल्ड बुक कैपिटल-2019 घोषित किया





2017-06-30 : हाल ही में, संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) द्वारा 29 जून 2017 को संयुक्त अरब अमीरात के शहर शारजाह को वर्ल्ड बुक कैपिटल-2019 (विश्व पुस्तक राजधानी) घोषित किया। शारजाह को यह ख़िताब देश में सभी के पास पुस्तकों की पहुंच बनाये रखने तथा लोगों को पुस्तकों से जोड़ने के लिए किये जा रहे प्रयासों के लिए दिया गया। देश में शिक्षा की गुणवत्ता और सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए किये जा रहे प्रयासों के कारण भी यह ख़िताब दिया गया।

संयुक्त अरब अमीरात को बहुत बड़े प्रवासी समुदाय की भागीदारी के सृजनात्मक प्रस्ताव से जुड़े समुदाय केंद्रित कार्यक्रमों के साथ उसके अनूठे और समावेशी अनुप्रयोग के कारण चुना गया है। यूनेस्को की महानिदेशक इरिना बोकोवा ने कहा कि विश्व पुस्तक राजधानी के रूप में शारजाह के नामांकन के साथ ही सामाजिक समग्रता, सृजनात्मकता और वार्ता के लिए हर संभव लोगों, विशेषकर हाशिए की आबादी तक पढ़ाई उपलब्ध कराने के शहर के प्रयासों की मैं सराहना करती हूं।

गौरतलब है कि इससे पहले शारजाह को अरब संस्कृति की राजधानी-1998, इस्लामी संस्कृति की राजधानी-2014 तथा अरब पर्यटन की राजधानी-2015 की उपलब्धियां भी हैं। यह सम्मान प्राप्त करने वाले शारजाह खाड़ी के देश में पहला, अरब जगत और पश्चिम एशिया में तीसरा शहर है। वर्ष 2018 में एथेंस को वर्ल्ड बुक कैपिटल-2018 घोषित किया गया था जबकि 2017 में कोनेक्री (गिनी, दक्षिण अफ्रीका) तथा 2016 में व्रोक्लाव (पोलैंड) को वर्ल्ड बुक कैपिटल घोषित किया गया था।

शारजाह को यह ख़िताब देश में सभी के पास पुस्तकों की पहुंच बनाये रखने तथा लोगों को पुस्तकों से जोड़ने के लिए किये जा रहे प्रयासों के लिए दिया गया। देश में शिक्षा की गुणवत्ता और सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए किये जा रहे प्रयासों के कारण भी यह ख़िताब दिया गया। संयुक्त अरब अमीरात को बहुत बड़े प्रवासी समुदाय की भागीदारी के सृजनात्मक प्रस्ताव से जुड़े समुदाय केंद्रित कार्यक्रमों के साथ उसके अनूठे और समावेशी अनुप्रयोग के कारण चुना गया है।

यूनेस्को की महानिदेशक इरिना बोकोवा ने कहा कि विश्व पुस्तक राजधानी के रूप में शारजाह के नामांकन के साथ ही सामाजिक समग्रता, सृजनात्मकता और वार्ता के लिए हर संभव लोगों, विशेषकर हाशिए की आबादी तक पढ़ाई उपलब्ध कराने के शहर के प्रयासों की मैं सराहना करती हूं। गौरतलब है कि इससे पहले शारजाह को अरब संस्कृति की राजधानी-1998, इस्लामी संस्कृति की राजधानी-2014 तथा अरब पर्यटन की राजधानी-2015 की उपलब्धियां भी हैं। यह सम्मान प्राप्त करने वाले शारजाह खाड़ी के देश में पहला, अरब जगत और पश्चिम एशिया में तीसरा शहर है। वर्ष 2018 में एथेंस को वर्ल्ड बुक कैपिटल-2018 घोषित किया गया था जबकि 2017 में कोनेक्री (गिनी, दक्षिण अफ्रीका) तथा 2016 में व्रोक्लाव (पोलैंड) को वर्ल्ड बुक कैपिटल घोषित किया गया था।

Provide Comments :





Related Posts :