Forgot password?    Sign UP
अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस मनाया गया

अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस मनाया गया





2017-07-29 : हाल ही में, दुनियाभर में 29 जुलाई 2017 को अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस मनाया। यह दिवस जागरूकता दिवस के तौर पर मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य जंगली बाघों के निवास के संरक्षण एवं विस्तार को बढ़ावा देने के साथ बाघों के संरक्षण के प्रति जागरूकता बढ़ाना है। पाठकों को बता दे की अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस 29 जुलाई को मनाने का फैसला वर्ष 2010 में सेंट पिट्सबर्ग बाघ समिट में लिया गया था क्योंकि तब जंगली बाघ विलुप्त होने के कगार पर थे। इस सम्मेलन में बाघ की आबादी वाले 13 देशों ने वादा किया था कि वर्ष 2022 तक वे बाघों की आबादी दुगुनी कर देंगे।

वर्तमान में बाघों की संख्या अपने न्यूनतम स्तर पर है। पिछले 100 वर्षों में बाघों की आबादी का लगभग 97 फीसदी खत्म हो चुकी है। वर्ल्ड वाइल्डलाइफ फंड एवं ग्लोबल टाइगर फोरम के अनुसार वर्ष 2010 में बाघों की संख्या 3200 थी जबकि अब यह 2,500 है। वर्ष 1915 में बाघों की संख्या एक लाख थी।

बाघों की कुछ प्रजातियां पहले ही विलुप्त हो चुकी हैं। भारत उन देशों में शामिल है जिसमे बाघों की जनसख्या सबसे अधिक है, भारत में मौजूदा समय में इनकी संख्या 2226 है। भारत, नेपाल, रूस एवं भूटान में पिछले कुछ समय से बाघों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गयी है।

Provide Comments :





Related Posts :