Forgot password?    Sign UP
विश्व मलेरिया दिवस (World malaria day) मनाया गया

विश्व मलेरिया दिवस (World malaria day) मनाया गया





2019-04-26 : हाल ही में, 25 अप्रैल 2019 को विश्व मलेरिया दिवस पूरे विश्व में मनाया गया। इस दिवस को मलेरिया जैसी गम्भीर बीमारी की ओर लोगों का ध्यान आकृष्ट करने के लिए मनाया जाता है। इस दिवस का मुख्य उद्देश्य मलेरिया से लोगों को जागरूक और उनकी जान की रक्षा करना है। यह दिवस मलेरिया निवारण और नियंत्रण के लिए सतत निवेश और राजनीतिक प्रतिबद्धता की आवश्यकता रेखांकित करने के लिए मनाया गया। विश्व मलेरिया दिवस एक विशेष विषय पर केंद्रित होता है। इस साल 2019 में विश्व मलेरिया दिवस की थीम “जीरो मलेरिया स्टार्ट्स विथ मी (Zero malaria starts with me)” है। इसका मतलब है कि मलेरिया को खत्म करने के लिए सभी व्यक्तियों को अपने स्तर पर प्रयास करने चाहिए और इसकी शुरुआत वो अपने से करें। यानी पहले अपने आसपास इस बीमारी के खतरे को कम करके आगे बढ़े।

पाठकों को बता दे की पहली बार “विश्व मलेरिया दिवस” 25 अप्रैल 2008 को मनाया गया था। यूनिसेफ़ द्वारा इस दिन को मनाने का उद्देश्य मलेरिया जैसे ख़तरनाक रोग पर जनता का ध्यान केंद्रित करना था, जिससे हर साल लाखों लोग मरते हैं।

मलेरिया रोग के बारे में :-

# मलेरिया एक मच्छरजन्य प्लासमोडियम परजीवी से उत्पन्न रोग है, जो रक्त-कोशिकाओं को संक्रमित करता है।

# मलेरिया सबसे प्रचलित संक्रामक रोगों में से एक है तथा भंयकर जन स्वास्थ्य समस्या है।

# मलेरिया सबसे अधिक मच्छर के काटने से फैलता है।

# जिस व्यक्ति को मलेरिया होता है, उसे काटने से मच्छर संक्रमित हो जाता है।

# जब यह मच्छर आपको भविष्य में काटता है, तो यह आपके लिए मलेरिया परजीवी को प्रसारित करने की प्रवृत्ति रखता है।

# मलेरिया के परजीवी का वाहक मादा एनोफ़िलेज़ (Anopheles) मच्छर है।

# इसका इलाज और रोकथाम की जा सकती है।

# मलेरिया के आम लक्षण बुखार, ठंड लगना, उल्टी होना, मिचली, बदन-दर्द, सिर-दर्द, खाँसी और दस्त है।

Provide Comments :





Related Posts :