Forgot password?    Sign UP
महाराष्ट्र में अगले 6 महीने के लिए लगा राष्ट्रपति शासन

महाराष्ट्र में अगले 6 महीने के लिए लगा राष्ट्रपति शासन





2019-11-13 : हाल ही में, महाराष्ट्र में 12 नवंबर 2019 को राष्ट्रपति शासन लागू हो गया। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की सिफारिश और केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगा दिया है। पाठकों को बता दे की महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन 6 महीने के लिए लगाया गया है, हालांकि, अगर इस अवधि के दौरान कोई भी पार्टी बहुमत साबित करती है, तो सरकार बनाई जा सकती है।

पाठक यह भी ध्यान दे की अब तक भारत के अलग-अलग राज्यों में करीब 125 बार राष्ट्रपति शासन लग चुका है। महाराष्ट्र में 12 नवंबर 2019 से पहले तक दो बार राष्ट्रपति शासन लग चुका है। अब यह तीसरी बार लागू किया गया है। महाराष्ट्र में पहली बार 17 फरवरी 1980 को लागू हुआ था। उस समय शरद पवार मुख्यमंत्री थे। राज्य में 17 फरवरी 1980 से 08 जून 1980 तक लगभग 112 दिन तक राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू रहा था। महाराष्ट्र में दूसरी बार राष्ट्रपति शासन 28 सितंबर 2014 को लगाया गया था। उस समय राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस थी। राज्य में 28 सितंबर 2014 से लेकर 30 अक्टूबर 2014 तक लगभग 32 दिनों तक राज्य में दूसरी बार राष्ट्रपति शासन लागू रहा था।

राष्ट्रपति शासन के बारे में :-

# राष्ट्रपति शासन में किसी राज्य का नियंत्रण भारत के राष्ट्रपति के पास चला जाता है।

# अनुच्छेद 356 के मुताबिक राष्ट्रपति किसी भी राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा सकते हैं अगर वे इस बात से संतुष्ट हों कि राज्य सरकार संविधान के मुताबिक काम नहीं कर रही है।

# अनुच्छेद 352 के अंतर्गत आर्थिक आपातकाल की स्थिति में राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है।

# इसे राष्ट्रपति शासन इसलिए कहा जाता है क्योंकि, इसके द्वारा राज्य का पूरा नियंत्रण एक निर्वाचित मुख्यमंत्री की जगह सीधे राष्ट्रपति के अधीन आ जाता है।

# लेकिन प्रशासनिक दृष्टि से राज्य के राज्यपाल को केंद्रीय सरकार द्वारा कार्यकारी अधिकार प्रदान किये जाते हैं।

Provide Comments :





Related Posts :