Forgot password?    Sign UP
StackHome वाटर प्राइज 2015 हेतु राजेंद्र सिंह का  नाम  |

StackHome वाटर प्राइज 2015 हेतु राजेंद्र सिंह का नाम |



0000-00-00 : जल संरक्षण के क्षेत्र में भारत में उल्लेखनीय योगदान देने वाले समाजिक कार्यकर्ता राजेंद्र सिंह को वर्ष 2015 के लिए स्टॉकहोम वाटर प्राइज हेतु नामित किया गया | स्टॉकहोम वाटर प्राइज समिति ने इसकी घोषणा 19 मार्च 2015 को की | जल पुरुष’ के नाम से मशहूर राजेंद्र सिंह राजस्थान में रहते हैं और वहीं जल संरक्षण से संबंधित काम करते हैं | ग्रामीणों के साथ अपने प्रयासों के बूते उन्होंने तथा उनके संगठन ने कई नदियों को पुनर्जीवित किया है, जिससे ग्रामीणों को जल मिला है और उनमें एक नई आस जगी है | स्टॉकहोम वाटर प्राइज समिति ने कहा, वर्तमान जल समस्या का निदान केवल विज्ञान या प्रौद्योगिकी के सहारे नहीं किया जा सकता | राजेंद्र सिंह ने अपना जीवन स्थानीय जल समस्याओं के समाधानार्थ कार्यों में भागीदारी, महिलाओं को सशक्त करने तथा आधुनिक वैज्ञानिक व तकनीकी दृष्टिकोण को स्वदेशी के साथ कैसे जोड़ा जाए, इस प्रयास में बिताया है | स्टॉकहोम इंटरनेशनल वाटर इंस्टीट्यूट के कार्यकारी निदेशक टॉर्नी हॉल्मग्रेन ने कहा, सिंह आशा की किरण हैं | उन्होंने गांवों को फिर से नया जीवन दिया है | हमें सिंह से सीख लेने की जरूरत है | स्वीडन के शासक व स्टॉकहोम वाटर प्राइज के संरक्षक 26 अगस्त 2015 को विश्व जल सप्ताह के दौरान राजेंद्र सिंह को इस सम्मान से सम्मानित करेंगे | इस सम्मान को *पानी के लिए नोबेल पुरस्कार * के तौर पर भी जाना जाता है | स्टॉकहोम वॉटर प्राइज़ समिति के निर्णायकों का कहना है कि राजेंद्र सिंह की जल-संचय पद्धति से बाढ़ और मिट्टी के अपरदन का ख़तरा कम हुआ है | जिससे वन्य जीवन को भी लाभ पहुंचा है | निर्णायकों का ये भी कहना है कि राजेंद्र सिंह के तौर-तरीक़े आसान और सस्ते हैं जिन्हें सारी दुनिया में अपनाया जाना चाहिए | >>जल संचयन का तरीक़ा : राजेंद्र सिंह ने बारिश के पानी को धरती के भीतर पहुंचाने की प्राचीन भारतीय पद्धति को ही आधुनिक तरीके से अपनाया | इसमें छोटे-छोटे पोखरों का निर्माण किया जाता है जो बारिश के पानी से लबालब भर जाते हैं जिसे धरती धीरे-धीरे सोख लेती है | >>स्टॉकहोम वाटर प्राइज : स्टॉकहोम वाटर प्राइज की स्थापना स्‍टॉकहोम (स्वीडन) में वर्ष 1991 में की गई थी | यह पुरस्कार स्टॉकहोम इंटरनेशनल वाटर इंस्टीट्यूट (एसआईडब्ल्यूआई, SIWI) द्वारा प्रतिवर्ष ऐसे किसी व्यक्ति, संगठन या संस्था को प्रदान किया जाता जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जल के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किया हो | इसके तहत विजेता को पुरस्कार स्वरूप 1,50,000 डॉलर की राशि नगद और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है | यह पुरस्कार स्वीडन के राजकुमार द्वारा स्वीडन के सिटी हॉल में प्रतिवर्ष दिया जाता है |

Provide Comments :




Related Posts :