Forgot password?    Sign UP
गणितज्ञ जॉन एफ नैश (John F Nash)

गणितज्ञ जॉन एफ नैश (John F Nash) "जूनिअर एंवं लुइस निरेनबर्ग" वर्ष 2015 के एबेल पुरस्कार से सम्मानित किये गये |





0000-00-00 : नार्वे की विज्ञान एवं साहित्य अकादमी (The Norwegian Academy of Science and Letters) ने 25 मार्च 2015 को वर्ष 2015 के एबेल पुरस्कार (Able Prize) की घोषणा की गयी | प्रिंसटन विश्वविद्यालय के जॉन एफ नैश जूनिअर (John F. Nash Jr.) और मैसाचुसेट्स प्रौद्योगिकी संस्थान के लुइस निरेनबर्ग (Louis Nireebarg) को प्रतिष्ठित "एबेल" पुरस्कार से सम्मानित किया गया है | यह पुरस्कार लुइस निरेनबर्ग तथा प्रिंसटन विश्वविद्यालय के जॉन नैश को सम्मिलित रुप से प्रदान किया गया | पुरस्कार के रूप में इन गणितज्ञों को 60 लाख नार्वेजियन क्रोनर राशि (लगभग 10 लाख अमेरिकी डॉलर) प्रदान की जायेगी | ये पुरस्कार 19 मई 2015 को ओस्लो (Oslo) में आयोजित एक समारोह में नार्वे के राजा हेराल्ड (Harald) द्वारा गणितज्ञों को प्रदान किए जायेंगे | कुछ बाते "एबेल" पुरस्कार के बारे में : पुरस्कार नार्वे के प्रसिद्ध गणितज्ञ नील्सम हैनरिक एबेल की स्मृति में प्रदान किया जाता है | उन्हें "एलेप्टिक फ़ंक्शन" नामक अपने गणितीय सिद्धान्त के लिए जाना जाता है | इसके अलावा उन्होंने "अनन्त श्रेणी" के सिद्धान्त के विकास में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया था | गणित का नोबेल माना जाने वाला यह पुरस्कार गणित के क्षेत्र में असाधारण उपलब्धियों के लिए प्रदान किया जाता है | इस पुरस्कार की स्थापना वर्ष 2001 में की गई | पहला एबेल पुरस्कार फ्रांस के गणितज्ञ जीन-पियरे सेर्रे (Jean Pierre Serre) को वर्ष 2003 में प्रदान किया गया | रूसी गणितज्ञ याकोव सिनाई को गणित के क्षेत्र में विशेष योगदान के लिए वर्ष 2014 के एबेल पुरस्कार सम्मानित किया गया | वर्ष 2007 में भारतीय मूल के अमेरिकी गणितज्ञ एस. आर. श्रीनिवास वर्धन को इस पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है |

Provide Comments :





Related Posts :