Forgot password?    Sign UP
अर्नस्ट एंड यंग ने ग्लोबल आईपीओ ट्रेंड्स 2015 रिपोर्ट जारी की गयी |

अर्नस्ट एंड यंग ने ग्लोबल आईपीओ ट्रेंड्स 2015 रिपोर्ट जारी की गयी |





0000-00-00 : अर्नस्ट एंड यंग (ईवाई) ने 13 अप्रैल 2015 को ग्लोबल आईपीओ ट्रेंड्स-2015 शीर्षक से एक रिपोर्ट जारी की गयी | यह रिपोर्ट 2015 के क्वार्टर 1 (क्यू1) में इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (आईपीओ) में वैश्विक रुझानों पर केंद्रित है | रिपोर्ट के अनुसार शंघाई स्टॉक एक्सचेंज (एसएसई) पहली बार वर्ष 2015 में इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (आईपीओ) सेक्टर में अपने प्रतिद्वंदियों, न्यूयॉर्क और हांगकांग को पीछे छोड़ते हुए ग्लोबल लीडर के तौर पर उभरा. 2015 के क्वार्टर 1 में एसएसई ने 5.4 अरब अमेरिकी डॉलर की बढ़ोतरी दर्ज की | ग्लोबल आईपीओ ट्रेंड्स 2015 रिपोर्ट से सम्बंधित तथ्य : शीर्ष छह स्टॉक एक्सचेंज जिन्होंने 2015 के क्वार्टर 1 में अधिकतम पूंजी लाभ हासिल किया उनमें शंघाई स्टॉक एक्सचेंज (5.4 अरब अमेरिकी डॉलर), मैड्रिड स्टॉक एक्सचेंज (5.3 अरब अमेरिकी डॉलर), न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (3.5 अरब अमेरिकी डॉलर), लंदन स्टॉक एक्सचेंज (3.4 अरब अमेरिकी डॉलर), बर्सा मलेशिया स्टॉक एक्सचेंज (3 अरब अमेरिकी डॉलर) तथा स्विस स्टॉक एक्सचेंज (2.5 अरब अमेरिकी डॉलर) शामिल हैं | 2015 क्यू1 के समझौतों की मात्रा के अनुसार शीर्ष छह देश हैं, चीन (98 समझौते), अमेरिका (28 समझौते), जापान (24 समझौते), ब्रिटेन (12 समझौते), फ्रांस (11 समझौते) और ऑस्ट्रेलिया (9 समझौते) | एकत्रित पूंजी 38.2 अरब अमेरिकी डॉलर, वर्ष 2014 के क्यू1 से 19 प्रतिशत तथा क्यू4 से 47 प्रतिशत कम है | 2015 क्यू1 समयावधि में समझौतों की संख्या 252 आईपीओ रही जो की 2014 क्यू1 की तुलना में 4 प्रतिशत कम तथा क्यू4 की तुलना में 31 प्रतिशत कम है |

Provide Comments :





Related Posts :