Forgot password?    Sign UP
पी-15-बी युद्धपोत

पी-15-बी युद्धपोत "विशाखापत्तनम" का जलावतरण किया गया |





0000-00-00 : भारतीय नौसेना ने अपने नए व अब तक के सबसे बड़े विध्वंसक युद्धपोत विशाखापत्तनम का 20 अप्रैल 2015 को एक समारोह के तहत मुंबई के मझगाँव बंदरगाह से जलावतरण किया है | यह आयोजन नौसेना अध्यक्ष एडमिरल आर के धोवान तथा अन्य विशिष्ट व्यक्तियों की मौजूदगी में किया गया | तथा देश में निर्मित 163 मीटर लम्बे इस युद्धपोत को विशाखापत्तनम नाम दिया गया है | यह युद्धपोत आणविक, जैविक और रासायनिक हमलों में भी संचलित होने की क्षमता रखता है | इसी प्रकार मैं भी कोलकाता क्लास पी-15बी परियोजना के तहत निर्मित यह युद्धपोत 7,300 टन वजनी है, इससे भारतीय नौसेना की ताकत में उल्लेखनीय इजाफा होगा | इसे वर्ष 2018 में भारतीय नौसेना में औपचारिक तौर पर शामिल किया जाएगा | और विशाखापत्तनम कई स्वदेशी हथियार प्रणालियों से सुसज्जित है | इसमें एक इजरायली मल्टी फंक्शन सर्विलांस थ्रेट अलर्ट राडार (एमएफ-एसटीएआर) लगा है, जो सतह से हवा में लंबी दूरी तक मार करने वाली बराक-8 श्रेणी की 32 मिसाइलों को निशाने की समस्त सूचनाएं प्रदान करेगा | इसके अलावा, विशाखापत्तनम 8 ब्रह्मोस मिसाइलों, 127 मिलीमीटर की एक बंदूक, 30 मिलीमीटर की चार रैपिड फायर बंदूकों से भी सुसज्जित है | यह 30 नॉट्स से अधिक की रफ्तार हासिल कर सकता है |

Provide Comments :





Related Posts :