Forgot password?    Sign UP
कर्नाटक ने तमिलनाडु को पारी से हरा कर वर्ष 2015 की रणजी ट्रॉफी जीती |

कर्नाटक ने तमिलनाडु को पारी से हरा कर वर्ष 2015 की रणजी ट्रॉफी जीती |





0000-00-00 : कर्नाटक ने 12 मार्च 2015 को आठवीं बार रणजी ट्राफी का खिताब जीता. मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए फाइनल में कर्नाटक ने तमिलनाडु को पारी और 217 रनों से हराकर लगातार दूसरी बार रणजी ट्राफी का खिताब जीत लिया| कर्नाटक ने पहली पारी में 762 रन बनाए जिसमें करुण नायर के रिकॉर्ड 328 रन, कप्तान आर विनय कुमार के नाबाद 105 रन और केएल राहुल के 188 रन शामिल थे| तमिलनाडु की टीम ने पहली पारी में 134 रन और दूसरी पारी में 411 रन बनाए| कर्नाटक इससे पहले वर्ष 1997-98 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में और वर्ष 1998-1999 में सुनील जोशी की कप्तानी में लगातार ट्रॉफी जीत चुका है| कर्नाटक के करुण नायर रणजी ट्रॉफी के फ़ाइनल में तिहरा शतक बनाने वाले भारत के पहले खिलाड़ी भी बन गए| कर्नाटक के रोबिन उथप्पा (912 रन) टूर्नामेंट के सर्वोच्च स्कोरर रहे| कर्नाटक के कप्तान विनय कुमार ने टूर्नामेंट में सर्वाधिक 48 विकेट हासिल किए| मैन ऑफ द मैच: कर्नाटक के बल्लेबाज करुण नायर को मैन ऑफ द मैच घोषित किया | करुण नायर ने रिकॉर्ड 328 रन बनाए| संक्षिप्त स्कोर : तमिलनाडु: 134 और 411 ऑल आउट और कर्नाटक: 762 रन| दोनों टीमों के कप्तान : कर्नाटक : आर विनय और तमिलनाडु : अभिनव मुकुंद | रणजी ट्रॉफी के बारे मै : रणजी ट्रॉफी को जुलाई 1934 में भारतीय बोर्ड के एक सम्मेलन में शुरू किया गया था | रणजी ट्राफी (क्रिकेट) भारत की एक घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिता है | इस क्रिकेट प्रतियोगिता का नाम क्रिकेटर कुमार श्री रणजीतसिंहजी के नाम पर रखा गया. मुंबई ने सबसे ज्यादा 40 बार रणजी ट्रॉफी का खिताब जीता हैं |

Provide Comments :





Related Posts :