Forgot password?    Sign UP
विश्व मृदा दिवस (World Soil Day) मनाया गया

विश्व मृदा दिवस (World Soil Day) मनाया गया





2018-12-06 : हाल ही में, विश्वभर में 05 दिसंबर 2018 को ‘विश्व मृदा दिवस’ मनाया गया। इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य किसानों और आम लोगों को मिट्टी की महत्ता के बारे में जागरूक करना है। इस दिवस को खाद्य व कृषि संगठन द्वारा मनाया जाता है। विश्व मृदा दिवस 2018 की थीम "मृदा प्रदूषण रोको" है। पाठकों को बता दे की प्रथम विश्व मृदा दिवस 05 दिसंबर 2014 को संपूर्ण विश्व में मनाया गया था। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के उप महानिदेशक डॉ. रणधीर सिंह ने कहा कि खेती के तौर-तरीकों और वातावरण में हुए बदलाव का असर मिट्टी व पानी दोनों पर पड़ा है। यह कार्यक्रम मिट्टी के बारे में जागरूकता बढ़ाने और महत्वपूर्ण संसाधन के स्थायी उपयोग को बढ़ावा देने हेतु वर्ष भर मनाया जाएगा।

विश्व मृदा दिवस की संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रत्येक वर्ष 05 दिसम्बर को मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य किसानो और आम लोगों को मिट्टी की महत्ता के बारे में जागरूक करना है। विश्व के बहुत से भागों में उपजाऊ मिट्टी बंजर और किसानो द्वारा ज्यादा रसायनिक खादों और कीड़ेमार दवाईओं का इस्तेमाल करने से मिट्टी के जैविक गुणों में कमी आने के कारण इसकी उपजाऊ क्षमता में गिरावट आ रही है और यह प्रदूषण का भी शिकार हो रही है। इसलिए किसानो और आम जनता को इसकी सुरक्षा के लिए जागरूक करने की जरूरत है। दिसंबर 2013 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 68वीं सामान्य सभा की बैठक में पारित संकल्प के द्वारा 05 दिसंबर को विश्व मृदा दिवस मनाने का संकल्प लिया।

Provide Comments :





Related Posts :