Forgot password?    Sign UP
हिना जायसवाल बनीं IAF की पहली महिला फ्लाइट इंजीनियर

हिना जायसवाल बनीं IAF की पहली महिला फ्लाइट इंजीनियर





2019-02-18 : हाल ही में, फ्लाइट लेफ्टिनेंट हिना जायसवाल भारतीय वायुसेना (IAF) की पहली महिला फ्लाइट इंजीनियर बन गई हैं। वे बेंगलुरू के उत्तरी उप नगर में स्थित येलाहांका एयर बेस की 112वीं हेलीकॉप्टर यूनिट की फ्लाइट लेफ्टिनेंट थीं। फ्लाइट लेफ्टिनेंट हिना जायसवाल ने येलाहांका वायुसेना स्टेशन में कोर्स पूरा करने के बाद पहली महिला फ्लाइट इंजीनियर बनकर इतिहास रच दिया है। हिना ने कहा कि बचपन से उनकी कोशिश थी कि वह सैनिक की यूनिफॉर्म पहनें और पायलट के तौर पर आसमान में उड़ान भरें।

हिना जायसवाल के बारे में :-

# मूल रूप से चंडीगढ़ की हिना जायसवाल ने पंजाब यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग में स्नातक किया है।

# हिना जायसवाल वर्ष 2014 में फ्लाइट इंजीनियर के कोर्स के लिए चुनी गई थीं।

# जायसवाल वायुसेना की इंजीनियरिंग शाखा में 5 जनवरी 2015 को सैनिक के रूप में भर्ती हुईं।

# उन्होंने फ्लाइट इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम में शामिल होने से पहले फ्रंटलाइन सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल दस्ते में फायरिंग टीम की प्रमुख और बैटरी कमांडर के तौर पर काम किया था। उन्होंने छह महीने तक सख्त प्रशिक्षण लिया, ऐसा ही प्रशिक्षण पुरूषों को भी दिया जाता है।

# हिना का फ्लाइट इंजीनियरिंग का कोर्स 15 फरवरी को पूरा हुआ था। फ्लाइट इंजीनियर के तौर पर हिना जरुरत पड़ने पर सियाचिन ग्लेशियर की बर्फीली ऊंचाइयों से अंडमान के सागर में वायु सेना की ऑपरेशनल हेलीकॉप्टर यूनिट्स पर अपनी सेवा देंगी।

Provide Comments :





Related Posts :