Forgot password?    Sign UP
भारत ने रूस में विकास हेतु एक अरब डॉलर का कर्ज देने की घोषणा की

भारत ने रूस में विकास हेतु एक अरब डॉलर का कर्ज देने की घोषणा की





2019-09-05 : हाल ही में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 05 सितंबर 2019 को कहा कि भारत रूस के सुदूर पूर्व क्षेत्र के विकास हेतु उसके साथ मिलकर काम करेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने संसाधन से भरपूर क्षेत्र के विकास हेतु रूस को एक अरब डॉलर की कर्ज सुविधा देने की घोषणा की। प्रधानमंत्री मोदी ने रूस दौर के आखिरी दिन 05 सितंबर को पांचवें ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम (Eastern Economic Forum) के मंच पर पूरे विश्व के सामने भारत को आर्थिक महाशक्ति बनाने का संकल्प लिया। उन्होंने फोरम को संबोधित करते हुए कहा की भारत, सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के साथ आगे बढ़ रहा है।

भारत पूर्वी हिस्से में विकास के लिए एक अरब डॉलर का लाइन ऑफ क्रेडिट देगा। भारत और पूर्वी हिस्से का रिश्ता काफी पुराना है। बता दे की भारत पहला देश है जिसने यहां पर अपना दूतावास खोला है। प्रधानमंत्री मोदी रूस के सुदूर पूर्व क्षेत्र (फार ईस्ट रीजन) की यात्रा करने वाले देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। वे यहां रूस के राष्ट्रपति पुतिन के साथ 20वें भारत-रूस सालाना शिखर सम्मेलन और पांचवें पूर्वी आर्थिक मंच की बैठक में भाग लेने हेतु आये हैं। यह मंच रूस के सुदूर पूर्व क्षेत्र में व्यापार के विकास तथा निवेश के अवसरों पर केंद्रित है।

लाइन ऑफ़ क्रेडिट के बारे में :-

# लाइन ऑफ़ क्रेडिट एक प्रकार का फंड है जिससे ऋण आम तौर पर कंपनियों या सरकारी संस्थानों को दिया जाता है।

# ये ऋण बैंको या वित्तीय संस्थानों द्वारा दिया जाता है।

# उसे वित्तीय संस्था द्वारा निर्धारित दरों तथा निर्धारित समय-सीमा में ही चुकाना होता है।

# लाइन ऑफ़ क्रेडिट विशेष गतिविधियों हेतु ही उपलब्ध होता है।

Provide Comments :





Related Posts :