Forgot password?    Sign UP
ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2019 में भारत को मिला 102वां स्थान

ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2019 में भारत को मिला 102वां स्थान





2019-10-16 : हाल ही में, जारी ग्लोबल हंगर इंडेक्स (GHI) रिपोर्ट-2019 के मुताबिक भारत में अब भी काफी भुखमरी मौजूद है। भारत की रैंकिंग ग्लोबल हंगर इंडेक्स में एशियाई देशों में सबसे खराब है। यह रिपोर्ट किसी देश में कुपोषित बच्चोंक के अनुपात, पांच साल से कम आयु वाले बच्चे जिनका वजन या लंबाई उम्र के हिसाब से कम है और पांच साल से कम उम्र वाले बच्चोंो में मृत्युआ दर के आधार पर तैयार की जाती है। पाठकों को बता दे की ग्लोबल हंगर इंडेक्स-2019 में कुल 117 देशों को शामिल किया गया जिसमें भारत 102वें पायदान पर है। यह दक्षिण एशियाई देशों का सबसे निचला स्थान है। भारत ग्लोबल हंगर इंडेक्स-2019 में पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल और श्रीलंका से भी पीछे हैं। ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2019 तैयार करने के लिए साल 2014 से साल 2018 के आंकड़ों का उपयोग हुआ है।

ग्लोबल हंगर इंडेक्स-2019 के बारे में अहम् बातें इस प्रकार है.....

# भारत में बच्चों में कुपोषण की स्थिति बहुत ही खराब है। देश में 20.8 प्रतिशत बच्चों का पूर्ण शारीरिक विकास नहीं हो पाता, इसकी सबसे बड़ी मुख्य ‘कुपोषण’ है।

# भारत इस रिपोर्ट में ब्रिक्स देशों में भी सबसे नीचे स्थान पर है। इस रिपोर्ट में पाकिस्तान 94वें स्थान पर, बांग्लादेश 88वें स्थान पर, नेपाल 73वें स्थान पर और श्रीलंका 66वें स्थान पर है।

# इस सूची में दक्षिण अफ्रीका 59वें स्थान पर है। चीन ग्लोबल हंगर इंडेक्स में 25वें स्थान पर है।

# इस रिपोर्ट में बेलारूस, यूक्रेन, तुर्की, क्यूबा और कुवैत टॉप पर हैं। यहां तक कि रवांडा और इथियोपिया जैसे देशों के जीएचआई रैंकों में अच्छा सुधार हुआ हैं।

# रिपोर्ट के अनुसार, भारत में छह से 23 महीने की उम्र के सभी बच्चों में से केवल 9।6 फीसदी को न्यूनतम जरूरी आहार दिया जाता है।

# रिपोर्ट के मुताबिक, जलवायु परिवर्तन के वजह से भूख का संकट चुनौतीपूर्ण हो गया है। इससे विश्व के पिछले क्षेत्रों में लोगों के लिए भोजन की उपलब्धता और बहुत ही मुश्किल हो गई है।

Provide Comments :





Related Posts :