Forgot password?    Sign UP
भारतीय रेलवे ने नेपाल के बीच अपनी पहली बौद्ध सर्किट ट्रेन चलाने की घोषणा की

भारतीय रेलवे ने नेपाल के बीच अपनी पहली बौद्ध सर्किट ट्रेन चलाने की घोषणा की





2019-10-19 : हाल ही में, भारतीय रेलवे ने 19 अक्टूबर से 26 अक्टूबर तक भारत और नेपाल के बीच अपनी पहली बौद्ध सर्किट ट्रेन चलाने की घोषणा की है। ट्रेन यात्रियों को भारत तथा नेपाल दोनों देशों में गौतम बुद्ध के जीवन से जुड़े अहम स्थलों की यात्रा करवाएगी। आईआरसीटीसी के मुताबिक, बौद्ध सर्किट ट्रेन महत्वपूर्ण बौद्ध स्मारकों को कवर करेगी। यह ट्रेन नई दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से यात्रियों को लेकर यात्रा शुरू करेगी और गौतम बुद्ध के जीवन से जुड़े स्थलों की यात्रा करवाने के बाद सफदरजंग रेलवे स्टेशन पर ही अपनी यात्रा समाप्त करेगी।

बौद्ध सर्किट ट्रेन के बारे में :-

# आईआरसीटीसी ने यात्रियों को अंतरराष्ट्रीय मानक अनुभव देने के लिए बौद्ध सर्किट ट्रेन में कई व्यवस्थाएं की हैं।

# इस ट्रेन में एसी फर्स्ट श्रेणी के डिब्बे के चार कोच में 96 सीटें, एसी द्वितीय श्रेणी के दो कोच की 60 सीटें, 64 लोगों के बैठकर भोजन करने की क्षमता वाले दो विशेष डाइनिंग कार तथा एक पैंट्री कार शामिल है।

# ट्रेन के प्रत्येक डिब्बे के अंदर एक रीडिंग लाइट होगी, साथ ही हर यात्री के लिए एक इलेक्ट्रॉनिक लॉकर भी होगा।

# ट्रेन में बेहतर सुरक्षा हेतु पर्सनल डिजिटल लॉकर, फुट मसाजर्स, शॉवर, क्यूबिकल्स, सिंगल सिटिंग सोफा, सीसीटीवी कैमरे, स्मोक डिटेक्शन अलार्म सिस्टम के साथ-साथ अलग से बैठने की जगह भी है।

# इस ट्रेन में दो डाइनिंग कार, एक किचन कार, एक स्टाफ कार और दो पावर कार है।

Provide Comments :





Related Posts :