Download App

वॉएजर-2 बना सूर्य की सीमा के पार पहुंचने वाला दूसरा यान


Date 2019-11-06 : हाल ही में, अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का वॉएजर-2 (Voyager 2) सूर्य की सीमा के पार पहुंचने वाला इतिहास का दूसरा अंतिरक्ष यान बन गया है। नासा के नाम एक और बहुत बड़ी उपलब्धि जुड़ गई है। नासा का वॉएजर-2 यान चार दशक से लंबे सफर के बाद सौरमंडल की परिधि के बाहर पहुंचने वाला दूसरा यान बन गया है। पाठकों को बता दे की नासा का ही वॉएजर-1 इससे पहले इस सीमा के पार पहुंचा था। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ आयोवा के शोधकर्ताओं के अनुसार, वॉएजर-2 इंटरस्टेलर मीडियम (आइएसएम) में पहुंच गया है। विज्ञान पत्रिका नेचर एस्ट्रोनॉमी में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, वॉएजर-2 ने 05 नवंबर 2018 को आइएसएम में प्रवेश किया था।

वॉएजर-2 के बारे में :-

# वॉएजर-2 एक अमेरिकी मानव रहित अंतरग्रहीय शोध यान है। वॉएजर-2 को 20 अगस्त 1977 को नासा द्वारा प्रक्षेपित किया गया था।

# वॉएजर-2 काफी कुछ अपने पहले वाले संस्करण यान वॉएजर-1 के समान ही था। वॉएजर-2 की चाल 57,890 किलोमीटर प्रतिघंटा है।

# दोनों यान को उद्देश्य और पथ में अंतर के साथ धरती से परे ग्रहों व अंतरिक्ष के अध्ययन के लिए लांच किया गया था। पिछले 42 साल से दोनों यान काम कर रहे हैं।

Provide comments for 'वॉएजर-2 बना सूर्य की सीमा के पार पहुंचने वाला दूसरा यान'

Next Articles :

  मनु भाकर ने जीता 14वीं एशियाई निशानेबाजी चैम्पियनशिप में भारत के लिए पहला स्वर्ण पदक

  बिहार सरकार ने 15 साल से अधिक पुराने वाहनों पर प्रतिबंध लगाया

  सत्यपाल मलिक बने गोवा के नये राज्यपाल

Prev Articles :

  मशहूर साहित्यकार मुजतबा हुसैन का निधन

  मशहूर अभिनेता मोहित बघेल का निधन

  NASA ने WFIRST हबल टेलीस्कोप का नाम बदलकर खगोल विज्ञानी नैन्सी ग्रेस रोमन पर रखा

©2015-20   www.edurelation.com    Privacy-Policy    Terms    About us    Contact
Follow On :