Forgot password?    Sign UP
उत्तर प्रदेश बना COVID-19 के लिए पुल परीक्षण शुरू करने वाला भारत का पहला राज्य

उत्तर प्रदेश बना COVID-19 के लिए पुल परीक्षण शुरू करने वाला भारत का पहला राज्य





2020-04-16 : हाल ही में, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद् (ICMR) ने उत्तर प्रदेश (यूपी) को कोविड -19 (कोरोना वायरस) के लिए पूल परीक्षण शुरू करने की मंजूरी दे दी है। पाठकों को बता दे की यह भारत का पहला ऐसा राज्य बन गया है जो इस विधि को क्रियान्वित करेगा। पूल परीक्षण विधि में, स्वैब के कई नमूनों को एक साथ रखकर उनका परीक्षण किया जाता है। इस प्रक्रिया के क्रियान्वयन से कोविड -19 के निदान को तेज गति से करने में मदद मिलेगी।

पूल परीक्षण विधि के बारे में :-

# नमूना संग्रह का पूल परीक्षण एक एकल RTPCR (रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पॉलीमरेज़ चेन रिएक्शन) का इस्तेमाल करके किया जाता है।

# इस विधि के तहत, कई स्वैब नमूनों को एक साथ रखकर उनका परीक्षण किया जाता है।

# अगर इन नमूनों का परिणाम नकारात्मक आता है, तो इससे पता चलता है कि संबद्ध स्वैब समूह के सभी नमूने नकारात्मक हैं।

# लेकिन अगर एक भी संग्रह का परिणाम सकारात्मक पाया जाता है, तो उन नमूनों में से प्रत्येक स्वैब का व्यक्तिगत रूप से परीक्षण किया जाएगा।

# यह विधि भारत के लिए फायदेमंद होगी जो परीक्षण किटों के साथ-साथ बुनियादी ढांचे की कमी से भी जूझ रहा है। इससे संसाधनों के बेहतरीन इस्तेमाल के साथ-साथ कोविड -19 स्क्रीनिंग भी बढ़ेगी।

# इस विधि का इस्तेमाल इस महामारी के अप्रत्यक्ष सामुदायिक प्रसार और विशाल स्तरीय संक्रमण के दौरान किया गया है।

Provide Comments :




Related Posts :