Forgot password?    Sign UP
अमर्त्य सेन को मिला वर्ष 2020 का जर्मनी का प्रतिष्ठित शांति पुरस्कार

अमर्त्य सेन को मिला वर्ष 2020 का जर्मनी का प्रतिष्ठित शांति पुरस्कार





2020-06-23 : हाल ही में, जर्मनी के प्रकाशकों और पुस्तक विक्रेताओं के संगठन, जर्मन बुक ट्रेड ने भारतीय अर्थशास्त्री और दार्शनिक अमर्त्य सेन को 2020 के शांति पुरस्कार के लिए चुना है। जर्मन बुक ट्रेड के बोर्ड ने ट्विटर पर अपने संदेश में कहा है कि प्रख्यात अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन को साल 2020 का यह जर्मन पुरस्कार "सामाजिक न्याय के सवाल पर उनके कई दशक लंबे काम के लिए" दिया जा रहा है।

प्रोफेसर अमर्त्य सेन के बारे में :-

# अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाने वाले प्रोफेसर अमर्त्य सेन को 1998 में नोबेल पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है।

# अमर्त्य सेन का जन्म 3 नवंबर, 1933 को पश्चिम बंगाल के शांतिनिकेतन में हुआ था।

# 1940 के दशक में भारत में चल रहे आजादी के आंदोलनों के साए में उनका बचपन बीता।

# 1943 में बंगाल का अकाल और 1947 में भारत की आजादी के समय हिंदू-मुसलमानों के बीच खूनी संघर्ष और दंगों के गवाह रहने वाले सेन ने 1959 में कोलकाता के ही प्रेसीडेंसी कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री ली।

# साल 2004 से वह अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र और दर्शन की शिक्षा दे रहे हैं।

# सेन ने लोक कल्याणकारी अर्थशास्त्र की अवधारणा दी और समाज कल्याण और विकास के कई पहलुओं पर अनेक किताबें लिखीं। उन्होंने गरीबी और भुखमरी जैसे विषयों पर काफी गंभीरता से लिखा है।

Provide Comments :




Related Posts :