Forgot password?    Sign UP
वैश्विक रियल एस्टेट पारदर्शिता सूचकांक में भारत को मिला 34वां स्थान

वैश्विक रियल एस्टेट पारदर्शिता सूचकांक में भारत को मिला 34वां स्थान





2020-07-08 : हाल ही में, जारी वैश्विक रियल एस्टेट पारदर्शिता सूचकांक में भारत को 34वां स्थान मिला है। रियल एस्टेट बाजार से जुड़े नियामकीय सुधार, बाजार से जुड़े बेहतर आंकड़े और हरित पहलों के चलते देश की रैंकिंग में एक अंक का सुधार हुआ है। पाठकों को बता दे की वैश्विक संपत्ति सलाहकार कंपनी जेएलएल इस द्वि-वार्षिक सर्वेक्षण को करती है। वर्ष 2018 में भारत की रैंकिंग 35, वर्ष 2016 में 36 और 2014 में 39 थी।

इस सूचकांक में कुल 99 देशों की रैंकिंग की गयी है। इसमें शीर्ष पर ब्रिटेन है। इसके बाद क्रमश: अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस और कनाडा देश शीर्ष पांच में शामिल है। भारत के पड़ोसी देश चीन की इस सूचकांक में रैंकिंग 32, श्रीलंका की 65 और पाकिस्तान की 73वां स्थान है। शीर्ष 10 देशों को उच्च पारदर्शी, 11 से 33 को पारदर्शी श्रेणी में रखा गया है।

Provide Comments :





Related Posts :