Forgot password?    Sign UP
रूस बना कोरोना वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल को पूरा करने वाला दुनिया का पहला देश

रूस बना कोरोना वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल को पूरा करने वाला दुनिया का पहला देश





2020-07-13 : फ़िलहाल पूरी दुनिया Covid-19 से प्रभावित है। हर देश को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का इंतजार है और लगभग हर बड़ा देश इस तरफ अपनी पूरी ताकत से वैक्सीन बनाने में लगा हुआ है। पाठकों को बता दे की रूस ने कोरोना वैक्सीदन पर बाजी मार ली है। रूस के सेचेनोव विश्वविद्यालय का दावा है कि उसने कोरोना वायरस के लिए वैक्सी न तैयार कर लिया है। विश्वविद्यालय का कहना है कि वैक्सीलन के सभी परीक्षणों को सफलतापूर्वक संपन्न कर लिया गया है। यदि यह दावा सच निकला तो यह कोरोना वायरस की पहली वैक्सी न होगी।

इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांसलेशनल मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी के निदेशक वदिम तरासोव ने बताया कि विश्वविद्यालय ने 18 जून 2020 को रूस के गेमली इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा निर्मित टीके के परीक्षण प्रारंभ किए थे। वदिम तारासोव ने कहा कि सेचेनोव विश्वविद्यालय ने कोरोनोवायरस के खिलाफ दुनिया के पहले टीके के स्वयं सेवकों पर सफलतापूर्वक परीक्षण पूरे कर लिये है।

सेचनोव यूनिवर्सिटी में इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल पैरासिटोलॉजी, ट्रॉपिकल एंड वेक्टर-बॉर्न डिजीज के निदेशक अलेक्जेंडर लुकाशेव के अनुसार सुरक्षा के लिहाज से वैक्सीन के सभी पहलुओं की जांच कर ली गई है। उन्होंेने कहा कि लोगों के सुरक्षा के लिए यह जल्दष बाजार में सुलभ होगा। उन्होंने कहा कि इस पूरे अध्ययन का मकसद मानव स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए कोविड 19 के वैक्सीन को सफलतापूर्वक तैयार करना था।

Provide Comments :





Related Posts :