Forgot password?    Sign UP
प्रसिद्द पर्यावरणविद् ‘सुंदरलाल बहुगुणा’ का निधन

प्रसिद्द पर्यावरणविद् ‘सुंदरलाल बहुगुणा’ का निधन





2021-05-22 : हाल ही में, प्रसिद्द पर्यावरणविद् व चिपको आन्दोलन (Chipko Movement) के प्रणेता ‘सुंदरलाल बहुगुणा’ का 94 वर्ष की उम्र में कोरोना वायरस के कारण निधन हुआ है। सुंदरलाल बहुगुणा का जन्म 09 जनवरी, 1927 को टिहरी जिले में भागीरथी नदी किनारे बसे मरोड़ा गांव में हुआ। 13 साल की उम्र में अमर शहीद श्रीदेव सुमन के संपर्क में आने के बाद उनके जीवन की दिशा बदल गई। सुमन से प्रेरित होकर वह बाल्यावस्था में ही आजादी के आंदोलन में कूद गए थे। वह अपने जीवन में हमेशा संघर्ष करते रहे और जूझते रहे। चाहे पेड़ों को बचाने के लिए चिपको आंदलन हो, चाहे टिहरी बांध का आंदोलन हो, चाहे शराबबंदी का आंदोलन हो, उन्होंने हमेशा अपने को आगे रखा।

सुंदरलाल बहुगुणा ने अपने जीवन काल में कई आंदोलन किए जिसमे उन्होंने शराब दुकान खोलने के विरोध में भी आंदोलन किया था। 1971 में बहुगुणा ने टिहरी जिले में शराब दुकान खोले जाने का जमकर विरोध किया था। सुंदरलाल बहुगुणा के नेतृत्व में पुरानी टिहरी बस अड्डे पर शराब की दुकान के बाहर लोगों ने धरना शुरू किया था और शांति भंग के आरोप में उन्हें गिरफ्तार भी किया गया था, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। वो 16 दिनों तक अनशन पर बैठे रहे थे।

Provide Comments :




Related Posts :