Forgot password?    Sign UP
वैज्ञानिकों ने गुरूत्वाकर्षी तरंगों का पता लगाया|

वैज्ञानिकों ने गुरूत्वाकर्षी तरंगों का पता लगाया|





2016-02-12 : हाल ही में, 12 फरवरी 2016 को भौतिक और खगोल विज्ञान के लिए एक महत्वपूर्ण खोज में अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिकों ने आज कहा कि अंतत: उन्होंने गुरूत्वाकर्षी तरंगों का पता लगा लिया है जिसकी भविष्यवाणी अल्बर्ट आइंस्टीन ने एक सदी पहले ही कर दी थी। वैज्ञानिकों ने इस सफलता को उस क्षण से जोड़ा जब गैलीलियो ने ग्रहों को देखने के लिए दूरबीन का सहारा लिया था।

और इन तरंगों की खोज ने खगोलविदों को उत्साह से भर दिया है क्योंकि इससे ब्रहमांड को समझने के नए रास्ते खुल गए हैं। ये तरंगें ब्रहमांड में भीषण टक्करों से उत्पन्न हुई थीं। भारतीय वैज्ञानिकों ने गुरूत्वाकर्षी तरंगों की खोज के लिए महत्वपूर्ण परियोजना में डाटा विश्लेषण सहित अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इंस्टिटयूट ऑफ प्लाजमा रिसर्च गांधीनगर, इंटर यूनिवर्सिटी सेंटर फॉर एस्ट्रोनामी एंड एस्ट्रोफिजिक्स पुणे और राजारमन सेंटर फॉर एडवांस्ड टेक्नोलाजी इंदौर सहित कई संस्थान इस परियोजना से जुड़े थे।

Provide Comments :





Related Posts :