Forgot password?    Sign UP
पिनराई विजयन बने केरल के नए मुख्यमंत्री|

पिनराई विजयन बने केरल के नए मुख्यमंत्री|





2016-05-25 : हाल ही में, वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) के नेता पिनराई विजयन ने 25 मई 2016 को केरल के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राज्यपाल पी सदाशिवम ने विजयन को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। केरल राज्य के मंत्रिमंडल में कुल 19 मंत्रियों में मुख्यमंत्री समेत सीपीएम के 12 मंत्री, सीपीआई के 4 मंत्री और 3 अन्य मंत्री जनता दल(एस), एनसीपी और कांग्रेस(एस) के शामिल हैं। सीपीएम से 2 महिलाओं समेत कुल 8 नए मंत्री को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है।

16 मई 2016 को हुए विधानसभा चुनाव में माकपा के नेतृत्व वाले एलडीएफ ने कांग्रेस के ओमेन चांडी के नेतृत्व वाली यूडीएफ सरकार को हराकर 140 सदस्यीय केरल विधानसभा में 91 सीटें पर जीत दर्ज की और सत्ता हासिल कर ली। यूडीएफ को केवल 47 सीटें ही मिल पाईं।

पिनराई विजयन के बारे में :-

# 24 मई 1945 को पिनराई विजयन का जन्म हुआ।

# 1960 के दशक के शुरुआती वर्षों में गवर्मेंट ब्रेनेन कॉलेज, थलासेरी में इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएशन किया।

# विजयन केरल स्टूडेंट फेडरेशन के सदस्य बने।

# वे वर्ष 1968 में कन्नूर डिस्ट्रिक्ट कमेटी के सदस्य भी बने।

# विजयन वर्ष 1970 में 26 साल की उम्र में कोठुपरंबा विधानसभा सीट जीतकर पहली बार विधानसभा पहुंचे।

# विजयन वर्ष 1975-77 के समय देश में इमरजेंसी के दौरान पुलिस कस्टडी में भी रहे।

# वे 1977, 1991 और 1996 में भी विधानसभा पहुंचने के साथ ही 1996 में ईके नयनार मंत्रिमंडल में पहली बार कैबिनेट में उर्जा मंत्री बने।

# उन्होंने वर्ष 1998 में सी गोविंदन की निधन के बाद मंत्रिमंडल से इस्तीफा देते हुए माकपा के स्टेट सेक्रेट्री बने।

# उन्होंने 2015 तक लगातार तकरीबन 17 साल तक स्टेट सेक्रेट्री के पद पर रहकर सर्वाधिक लंबे समय तक इस पद पर रहने का इतिहास रचा है।

# विजयन 2002 में पार्टी के शीर्ष निर्णय लेने वाले निकाय पोलित ब्यूरो के सदस्य भी बने।

Provide Comments :




Related Posts :