Forgot password?    Sign UP
भारतीय मूल के वैज्ञानिक रमेश रसकर लेमेल्सन-एमआईटी पुरस्कार से सम्मानित किये गये

भारतीय मूल के वैज्ञानिक रमेश रसकर लेमेल्सन-एमआईटी पुरस्कार से सम्मानित किये गये





2016-09-15 : हाल ही में, भारतीय मूल के वैज्ञानिक रमेश रसकर को सितम्बर 2016 के दुसरे सप्ताह में ‘लेमेल्सन-एमआईटी’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया। रमेश रसकर को आम आदमी की जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए की गई प्रयास के लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया गया। पुरस्कार के तहत उन्हें पांच लाख अमरीकी डॉलर (करीब 3.35 करोड़ रुपये) मिलेगा। लेमेल्सन-एमआइटी पुरस्कार से प्रतिवर्ष उन लोगों को सम्मानित किया जाता है जो विश्व को बेहतर बनाने के लिए नई तकनीकी की खोज करते हैं।

रमेश रसकर के बारे में :-

# नासिक में जन्मे 46 वर्षीय रमेश मैसाच्यूसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलाजी में प्रोफेसर हैं।

# वे फेम्टो फोटोग्राफी समेत अनेक रेडिकल इमेजिंग सोल्यूशन्स के सह खोजकर्ता हैं।

# वे खोजकर्ता, शिक्षाविद और बदलाव लाने वाले बहुमुखी प्रतिभा वाले व्यक्ति हैं।

# उन्होंने औद्योगिक और विकासशील समाजों में लोगों के जीवन और स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए शैक्षिक और उद्यमशीलता की विश्व को सर्वश्रेष्ठ तरीके से जोड़ा है।

# फेम्टो फोटोग्राफी अल्ट्रा फास्ट इमेजिंग सिस्टम है जो हर कोण से देखा जा सकता है।

Provide Comments :




Related Posts :