Forgot password?    Sign UP
वैज्ञानिकों ने समुद्र में 15 हजार तरह के वायरस खोजे

वैज्ञानिकों ने समुद्र में 15 हजार तरह के वायरस खोजे





2016-09-24 : हाल ही में, वैज्ञानिकों ने समुद्र में 22 सितम्बर 2016 को 15 हजार से ज्यादा तरह के वायरस खोजे हैं। विश्वभर के समुद्रों में वायरसों की संख्या तिगुनी हो गयी है। धरती को जलवायु परिवर्तन के बुरा असर से बचाने के प्रयास में यह शोध काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। वायरस के वजह से वायुमंडल में ऑक्सीजन की मात्रा पर बुरा प्रभाव पड़ने की आशंका है।

पाठकों को बता दे की इस शोध का नेतृत्व ओहायो यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों ने मिलकर किया है। ये कुल उत्सर्जित कार्बन की आधी मात्रा को समुद्र अवशोषित करता है। तथा इसके प्रभाव से सागर का पानी अम्लीय हो रहा है, वहीं जलीय जीवों के लिए भी संकट उत्पन्न हो गया है।

इस अभियान में दो सौ से ज्यादा वैज्ञानिकों ने 15,222 वायरसों की सूची तैयार की है। तथा इन्हें 867 समूहों में वर्गीकृत किया गया है। समुद्र में मौजूद वायरस और सूक्ष्म जीवों के बीच आपसी संपर्क के प्रभावों का विश्लेषण कर इससे बचा जा सकता है।

समुद्र में पाये जाने वाले माइक्रोब (शैवाल समेत) वायुमंडल में उपस्थित ऑक्सीजन की आधी मात्रा का उत्सर्जन करते हैं। वायरस के संक्रमण के चलते इन पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ रहा है। तथा ये धीरे-धीरे खत्म हो रहे हैं। इसका प्रभाव ऑक्सीजन की मात्रा पर भी बुरा असर पड़ सकता है।

Provide Comments :




Related Posts :