Forgot password?    Sign UP
भारत बना दूसरा सबसे जटिल कर व्यवस्था वाला देश : रिपोर्ट

भारत बना दूसरा सबसे जटिल कर व्यवस्था वाला देश : रिपोर्ट





2017-06-01 : भारतीय कर कानून को एशिया प्रशांत क्षेत्र में दूसरा सबसे जटिल कानून माना जाता है जो पिछले तीन वर्षो में इसको लेकर भरोसा कम हुआ है। डेलायट के एक सर्वे में यह बताया गया है। आडिट एवं वित्तीय परामर्श कंपनी डेलायट ने एक सर्वे में कहा कि कराधान के मामले में जटिल क्षेत्रों में चीन के बाद भारत दूसरे स्थान पर है तथा कर की जरूरतें काफी जटिल हैं। डेलायट के एशिया प्रशांत कर जटिलता सर्वे के मुताबिक आस्ट्रेलिया, इंडोनेशिया जापान तथा दक्षिण कोरिया कर जटिलता सूचकांक में भारत के बाद आते हैं।

इसमें कहा गया है की दोनों देशों (चीन और भारत) में आधे से अधिक प्रतिभागियों का मानना है कि इन क्षेत्रों में पिछले तीन वर्षो में कर जटिलता बढ़ी हैं। यहां जटिलता का मतलब संबंधित क्षेत्र में कर कानून एवं नियमों के विश्लेषण में कठिनाइयों से है।

इस सर्वे में 300 वित्तीय और कर कार्यकारियों ने भाग लिया। इन लोगों से एशिया प्रशांत क्षेत्र में 20 देशों में मौजूदा तथा आगे कर मौहाल को लेकर उम्मीद के बारे में सवाल पूछे गये थे। इन प्रतिभागियों में से लगभग 147 के कामकाज भारत में हैं।

सर्वे के मुताबिक जहां विकसित बाजारों में कर व्यवस्था स्थिर है वहीं भारत, चीन एवं इंडोनेशिया में इसमें निरंतरता की कमी है और इसको लेकर भरोसा कम हुआ है। डेलायट ने कहा की सर्वे में भाग लेने वाले प्रतिभागियों में से 90 प्रतिशत प्रतिभागियों ने कहा कि वे भारत, चीन और इंडोनेशिया में कर को लेकर सुधार देखना चाहेंगे। कर नीतियों में निरंतरता के संदर्भ में ज्यादातर प्रतिभागियों का मानना था कि पिछले तीन वर्षो में भारत इस मामले में निरंतरता का अभाव रहा है।

Provide Comments :





Related Posts :