Forgot password?    Sign UP
जापानी वैज्ञानिकों ने तत्व की नयी अवस्था जैन-टेलर-मेटल (Jen-Telor-Metel) की खोज की |

जापानी वैज्ञानिकों ने तत्व की नयी अवस्था जैन-टेलर-मेटल (Jen-Telor-Metel) की खोज की |





0000-00-00 : जापानी वैज्ञानिकों ने 14 मई 2015 को तत्व की नयी अवस्था की खोज की गयी | यह तत्व एक इंसुलेटर, सुपरकंडक्टर, धातु एवं चुंबक जैसा प्रतीत होता है | तथा यह अध्ययन तोकुहू यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर कोस्मस प्रसीडेस द्वारा किया गया है | इसमें उन्होंने पाया कि सुपरकंडक्टर कार्बन-60 मौलिक्युल्स अथवा बकीबॉल्स से मिलकर बना है | इस शोध का साइंस एडवांसेज नामक पत्रिका में वर्णन किया गया है | और इसमें सीज़ियम फ्लुराइड (Cs3C60) की मौजूदगी से यह अन्य तत्वों से स्वयं को भिन्न करता है | इस शोध से पता चला है कि यह नया तत्व उच्च तापमान पर भी नए अणुओं का विकास कर सकता है |
शोध से पता चला है कि इस तत्व में इंसुलेशन, धातु तथा अतिचालकता का मिश्रण है | यह शोध इस बात की ओर इंगित करता है कि अणुओं की इलेक्ट्रॉनिक संरचना इलेक्ट्रॉन्स के बीच अतिचालकता का कारण बन सकती है | अतिचालक विभिन्न तत्वों से मिलकर बनने वाली संरचना है जो विद्युत धाराओं को प्रवाहित करने के उपरांत शून्य प्रतिरोध पैदा करती है | इसमें तीन अलकाई धातुओं एवं अणुओं का दो दशकों से भी अधिक समय तक अध्ययन करने के बाद इस निष्कर्ष पर पहुंचा जा सका |

Provide Comments :





Related Posts :