Forgot password?    Sign UP
महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का निधन

महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का निधन





2018-03-14 : हाल ही में, दुनिया के सुप्रसिद्ध भौतिक वैज्ञानिक एवं ब्रह्मांड के रहस्यों के बारे में बताने वाले महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का निधन हो गया। वे 76 वर्ष के थे। स्टीफन हॉकिंग के परिवार ने 13 मार्च 2018 को एक बयान जारी कर उनके निधन की पुष्टि की है। हॉकिंग के परिवार में उनके बच्चे लूसी, रॉबर्ट और टिम हैं। स्टीफन हॉकिंग ने ब्रह्मांड के बहुत से अहम् रहस्यों के बारे में अपनी राय व्यक्त की थी जो विश्व भर में विशिष्ट स्थान रखती है। स्टीफन हॉकिंग ने ब्लैक होल और बिग बैंग सिद्धांत को समझने में अहम योगदान दिया है। उनके पास 12 मानद डिग्रियां थीं। स्टीफन हॉकिंग के कार्यों के चलते उन्हें अमेरिका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान भी प्रदान किया जा चुका है।

स्टीफन हॉकिंग के बारे में :-

# स्टीफ़न हॉकिंग का जन्म 8 जनवरी 1942 को फ्रेंक और इसाबेल हॉकिंग के घर में हुआ।

# परिवार वित्तीय बाधाओं के बावजूद, माता पिता दोनों की शिक्षा ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में की।

# स्टीफ़न हॉकिंग ने यूनिवर्सिटी कॉलेज, ऑक्सफ़ोर्ड में अपनी विश्वविद्यालय की शिक्षा 1959 में 17 वर्ष की आयु में शुरू की।

# द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान स्टीफन जब महज आठ वर्ष के थे उनका परिवार सुरक्षा कारणों से उत्तरी लंदन से बीस मील दूर स्थित सेंट अल्बांस कस्बे मे आकर बस गया।

# आठ वर्ष की आयु में वे रेडियो तथा अन्य कलपुर्जों को खोलकर जोड़ते रहते जिससे उनके अंदर वस्तुओं को जानने की जिज्ञासा ने जन्म लिया।

# यूनिवर्सिटी कॉलेज में गणित विषय उपलब्ध न होने पर भौतिकी को वैकल्पिक विषय के रुप मे चुना।

# अपनी पीएच.डी. डिग्री प्राप्त करने के बाद सबसे पहले वे एक रिसर्च फैलो बने और उसके बाद गोनविले व कैयस कॉलेज में एक प्राध्यापकीय फैलो नियुक्त हुए।

# 1973 में खगोल विज्ञान संस्थान छोड़ने के बाद, स्टीफन 1979 में एप्लाईड गणित और सैद्धांतिक भौतिकी विभाग में आए, फिर 1979 से लेकर 2009 तक गणित के ल्युकेसियन प्रोफेसर पद पर रहे।

# इससे पहले यह पद सर्वप्रथम आइजैक न्यूटन द्वारा और फिर 1669 में इसहाक बैरो द्वारा संभाला गया था।

Provide Comments :





Related Posts :