Forgot password?    Sign UP
स्वाज़ीलैंड का नाम बदलकर ‘द किंगडम ऑफ इस्वातिनी’ रखने की घोषणा गयी

स्वाज़ीलैंड का नाम बदलकर ‘द किंगडम ऑफ इस्वातिनी’ रखने की घोषणा गयी





2018-04-20 : हाल ही में, दक्षिण अफ्रीकी देश स्वाज़ीलैंड के राजा मस्वाती तृतीय ने अपने देश का नाम बदलकर “द किंगडम ऑफ इस्वातिनी” रखने की घोषणा की है। स्वाज़ीलैंड की आज़ादी के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य पर आयोजित कार्यक्रम में राजा ने इसकी आधिकारिक घोषणा की। इस्वातिनी का अर्थ है “स्वाजियों की भूमि” राजा मस्वाती तृतीय वर्षों से स्वाजीलैंड को इस्वातिनी कहते आ रहे थे। वर्ष 2017 में संयुक्त राष्ट्र को संबोधित करते हुए और वर्ष 2014 में देश के संसद के उद्घाटन के अवसर पर भी उन्होंने इसी नाम का इस्तेमाल किया था।

देश के संविधान में ‘स्वाज़ीलैंड’ 200 बार प्रयोग किया गया है जिसे बदलना होगा। देश की अधिकारिक एयरलाइन्स स्वाज़ीलैंड एयरलिंक को भी बदला जायेगा जबकि करेंसी सिक्कों पर सेंट्रल बैंक ऑफ़ स्वाज़ीलैंड मुद्रित है जिसे बदलना पड़ेगा। सरकारी वेबसाइट पर भी नाम बदलना होगा तथा अंतरराष्ट्रीय संगठनों जैसे संयुक्त राष्ट्र, विश्व बैंक आदि में भी देश का नाम फिर से पंजीकृत कराना होगा। इन्टरनेट डोमन, नंबर प्लेट्स, खिलाड़ियों की यूनिफार्म तथा सरकारी संस्थानों पर लिखे गये नाम भी अब फिर से बदले जायेंगे।

स्वाज़ीलैण्ड के बारे में :-

# स्वाज़ीलैण्ड (अब किंगडम ऑफ़ इस्वातिनी) दक्षिणी अफ्रीका में स्थित एक सम्प्रभु देश है। पूर्व की ओर मोजाम्बिक, व उत्तर, पश्चिम तथा दक्षिण की ओर दक्षिण अफ्रीका इसके पड़ोसी देश हैं।

# स्वाज़ीलैण्ड अफ्रीका के सबसे छोटे देशों में से एक है, इसका कुल क्षेत्रफल 17,364 वर्ग किलोमीटर है।

# 1903 से 1967 तक स्वाज़ीलैण्ड ब्रिटेन द्वारा संरक्षित राज्य था। 6 सितम्बर 1968 को इस देश ने स्वतंत्रता प्राप्त की थी।

# स्वाज़ीलैण्ड की मुद्रा, स्वाज़ी लीलांगिनी है जो दक्षिण अफ्रीका की मुद्रा रैंड के अनुसार आंकी जाती है।

Provide Comments :





Related Posts :