Forgot password?    Sign UP
दो भारतीय समाजसेवियों भरत वाटवानी और सोनम वांगचुक को रमन मैगसेसे पुरस्कार हेतु चुना गया

दो भारतीय समाजसेवियों भरत वाटवानी और सोनम वांगचुक को रमन मैगसेसे पुरस्कार हेतु चुना गया





2018-07-27 : हाल ही में, दो भारतीय समाजसेवियों भरत वाटवानी और सोनम वांगचुक को रमन मैगसेसे पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है। इन पुरस्कारों की घोषणा 26 जुलाई 2018 की गई। रमन मैगसेसे पुरस्कार को नोबेल पुरस्कार का एशियाई संस्करण कहा जाता है। बता दे की भरत वाटवानी और सोनम वांगचुक इस वर्ष यह अवार्ड जीतने वाले 6 लोगों में शामिल हैं। दोनों समाजसेवियों को समाज में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए चुना गया। भरत वाटवानी मानसिक रोग चिकित्सक हैं जो कि मानसिक रूप से बीमार बेसहारा व्यक्तियों के लिए काम करते हैं। वहीं वांगचुक की आर्थिक प्रगति के लिए विज्ञान और संस्कृति का इस्तेमाल करने की पहल ने लद्दाखी युवकों के जीवन में सुधार किया है।

रमन मैगसेसे पुरस्कार के बारे में :-

# रमन मैग्सेसे पुरस्कार एशिया का सबसे बड़ा पुरस्कार माना जाता है।

# इसकी स्थापना 1957 में फिलीपिंस के तीसरे राष्ट्रपति की स्मृति में की गई थी और इस पुरस्कार का नाम उनके नाम पर रखा गया है।

# यह पुरस्कार औपचारिक रूप से 31 अगस्त 2018 को फिलीपिंस के सांस्कृतिक केंद्र में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रदान किया जाएगा।

# विजेता को पुरस्कार स्वरुप एक प्रमाण पत्र, मेडल एवं नगद पुरस्कार भी दिया जाता है।

# यह उन लोगों को दिया जाता है जिन्होंने बिना स्वार्थ के समाज के लिए अभूतपूर्ण योगदान दिया हो।

Provide Comments :





Related Posts :