Forgot password?    Sign UP
वोडाफोन-आइडिया का विलय हुआ बनी भारत की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी

वोडाफोन-आइडिया का विलय हुआ बनी भारत की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी





2018-09-03 : हाल ही में, वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेलुलर का विलय 31 अगस्त 2018 को पूरा हो गया। आइडिया और वोडाफोन के विलय के बाद 408 मिलियन सब्सक्राइबर्स के साथ ये देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बन गई है। पाठकों को बता दे की वोडाफोन-आईडिया के विलय के बाद कंपनी का नया नाम “वोडाफोन आईडिया लिमिटेड” रखा गया है। वोडाफोन और आईडिया ब्रांड दोनों ही पहले की तरह काम करेंगे। इस कंपनी के आने से भारतीय टेलीकॉम मार्केट में प्रतिस्पर्धा काफी बढ़ जाएगी।

इस विलय के लिए नए बोर्ड का गठन किया गया है, जिसमें 12 निदेशक (छह स्वतंत्र निदेशक शामिल) और कुमारमंगलम बिड़ला चेयरमैन होंगे। निदेशक मंडल ने बालेश शर्मा को सीईओ (मुख्य कार्यपालक अधिकारी) नियुक्त किया है।

आइडिया सेल्युलर के बारे में :-

आइडिया सेल्युलर भारत के विभिन्न राज्यों में एक वायरलेस टेलीफोन सेवाओं को संचालित करने वाली एक कंपनी है। इसका शुभारंभ 1995 में टाटा, आदित्य बिड़ला समूह और एटी एंड टी के बीच एक संयुक्त उद्यम के रूप में हुआ था।

वोडाफोन समूह के बारे में :-

वोडाफोन समूह दुनिया की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनियों में से एक है। यह कंपनी इंग्लैंड में वर्ष 1991 में बनी जिसके बाद धीरे धीरे यह अपना कारोबार अन्य देशों में फैलाने लगा। भारत में व्यापार शुरू करने और सभी प्रकार के व्यापारिक अधिकार के लिए इसने हच एस्सार नामक कंपनी को खरीद लिया। इसके बाद इसने इसका नाम बदल कर इसे वोडाफ़ोन कर दिया। इसे बाद में वोडाफ़ोन इंडिया एलटीडी नाम से पंजीकृत करा दिया।

Provide Comments :




Related Posts :