Forgot password?    Sign UP
केंद्र सरकार ने मध्य प्रदेश के ग्वालियर में दिव्यांगजन खेल-कूद केंद्र स्थापित करने को मंजूरी दी

केंद्र सरकार ने मध्य प्रदेश के ग्वालियर में दिव्यांगजन खेल-कूद केंद्र स्थापित करने को मंजूरी दी





2019-03-04 : हाल ही में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यदक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मध्यय प्रदेश के ग्वाइलियर में दिव्यां गजन खेल-कूद केंद्र स्थाधपित करने के प्रस्ताअव को मंजूरी दे दी। इसे सोसायटी पंजीकरण अधिनियम,1860 के तहत पंजीकृत किया जाएगा। इसका नाम दिव्यां गजन खेल-कूद केंद्र, ग्वायलियर होगा। इस केंद्र को लगभग 170.99 करोड़ रुपये की लागत से पांच वर्ष में निर्मित किया जाएगा। इस केन्द्र में खेलकूद की बेहतर बुनियादी सुविधाएं होंगी और इसमें दिव्यांग व्यक्तियों की खेल गतिविधियों में भागीदारी सुनिश्चित होगी।

इस केंद्र के प्रबंधन और देख-रेख के लिए एक प्रबंध निकाय होगी, जिसके सदस्यब 12 से अधिक नहीं होंगे। इनमें से कुछ पदेन सदस्य् के तौर पर कार्य करेंगे। इनके अलावा राष्ट्रीीय स्त्र के स्पोएर्ट्स फेडरेशन के विशेषज्ञ और पैरा गेम्सद के विशेषज्ञ भी सदस्यं होंगे। बता दे की इस केंद्र द्वारा खेल-कूद के लिए बेहतर बुनियादी ढांचा तैयार किए जाने से विभिन्ने खेलों में दिव्यांेजनों की प्रभावी प्रतिभागिता सुनिश्चित होगी और वे राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीदय स्तर पर प्रतिस्पिर्धा के लिए अधिक सक्षम होंगे। इस केंद्र की स्थाशपना से दिव्यां जनों के मन में सहजता से समाज की मुख्यरधारा से जुड़ने की भावना पैदा होगी।

दिव्यांिगजन अधिकार (आरपीडब्यूींग डी) अधिनियम, 2016 की धारा 30 के तहत सरकार के लिए खेलों में दिव्यांयजनों की प्रभावी प्रतिभागिता सुनिश्चित करने का विधान किया गया है, जिसमें अन्यत बातों के साथ उनके खेल-कूद के लिए ढांचागत सुविधाओं के प्रावधान शामिल हैं। वित्ता मंत्री ने वर्ष 2014-15 के अपने बजट भाषण में दिव्यां गजन खेल केंद्र की स्थाओपना की घोषणा की थी। वर्तमान में देश में दिव्यांषगजन के लिए विशिष्टे खेल प्रशिक्षण सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं। प्रस्ताेवित केंद्र की स्थामपना से इस कमी को पूरा किया जाएगा। इस केंद्र में दिव्यां्गजन सही और विशिष्टक प्रशिक्षण प्राप्तक कर सकेंगे।

Provide Comments :





Related Posts :