Forgot password?    Sign UP
असम का चार दिवसीय अंबुबचि मेला संपन्न हुआ |

असम का चार दिवसीय अंबुबचि मेला संपन्न हुआ |



0000-00-00 : असम के गुवाहाटी स्थित कामाख्या देवी मंदिर में चार दिवसीय अंबुबचि मेला 26 जून 2015 को संपन्न हो गया है | और इसके साथ ही कामाख्या देवी मंदिर के द्वार भी श्रृद्धालुओं के लिए खोल दिए गए है | अंबुबचि मेले को अंबुबचि महोत्सव के नाम से भी जाना जाता है | यह महोत्सव 23 जून 2015 को शुरु हुआ था जिसमें दुनिया के विभिन्न भागों से लगभग 7 लाख 50 हजार तीर्थयात्रियों ने हिस्सा लिया गया | अंबुबचि मेला (अंबुबचि महोत्सव) के बारे में :
इसे कामाख्या देवी पूजा के नाम से भी जाना जाता है | प्रत्येक वर्ष गुवाहाटी के कामाख्या देवी मंदिर में भव्य अंबुबचि मेले का आयोजन किया जाता है | और मेले के दौरान 3 दिन के लिए मदिर के दर्शन आम भक्तों के लिए बंद कर दिए जाते हैं और चौथे दिन मंदिर के द्वार खुलते हैं | तथा यह अम्बूवाची पर्वत भगवती (सती) का रजस्वला पर्व होता है |
कामाख्या मंदिर नीलाचल पर्वत पर गुवाहाटी शहर में पहाड़ी की ऊंची चोटी पर स्थित है | यहाँ कामाख्या देवी शक्तिपीठ को 51 शक्तिपीठों में से एक माना जाता है | एवं यह शक्तिपीठ तंत्र साधना के लिए प्रसिद्ध है | कामाख्या शक्तिपीठ असम की राजधानी दिसपुर के पास गुवाहाटी से 8 किलोमीटर दूर कामाख्या में है |

Provide Comments :




Related Posts :