Forgot password?    Sign UP
भारत की पहली महिला विधायक मुथुलक्ष्मी रेड्डी की 133वीं जयंती मनाई गयी

भारत की पहली महिला विधायक मुथुलक्ष्मी रेड्डी की 133वीं जयंती मनाई गयी





2019-07-30 : हाल ही में, गूगल ने 30 जुलाई 2019 को भारत की पहली महिला विधायक मुथुलक्ष्मी रेड्डी की जयंती पर उनका डूडल बनाकर श्रद्धांजलि दी है। मुथुलक्ष्मी रेड्डी की आज 133वीं जयंती है। पाठकों को बता दे की वे भारत की पहली महिला विधायक होने के साथ-साथ देश की पहली महिला सर्जन भी थीं। मुथुलक्ष्मी एक भारतीय शिक्षक, सर्जन और समाज सुधारक थीं। उन्होंने स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करने के साथ-साथ लिंगानुपात को बराबर करने तथा लड़कियों के जीवन को सुधारने के लिए काफी हद तक काम किया। तमिलनाडु सरकार ने 29 जुलाई 2019 को घोषणा की थी कि वे प्रत्येक साल 30 जुलाई को “हॉस्पिटल डे” के तौर पर मनाएगी।

मुथुलक्ष्मी रेड्डी के बारे में :-

# मुथुलक्ष्मी रेड्डी का जन्म 30 जुलाई 1886 को तमिलनाडू में हुआ था।

# वे लड़कों के स्कूल में दाखिला लेने वालीं देश की पहली महिला थीं।

# उन्होंने जीवन भर महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़तीं रहीं तथा देश की आज़ादी की लड़ाई में भी उन्होंने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।

# मुथुलक्ष्मी रेड्डी जिस दौर में बड़ी हो रही थीं, उस समय बाल विवाह का चलन बहुत जोर-शोर पर था। इसके बावजूद उन्होंने इसका विरोध किया और अपने माता-पिता को उन्हें शिक्षित करने के लिए राजी किया था।

# उन्होंने मद्रास विधानसभा में काम करते हुए शादी हेतु तय सीमा को बढ़ाने की मांग की। उन्होंने इसके साथ ही बच्चियों के साथ होने वाले उत्पीड़न के विरुद्ध आवाज़ बुलंद की।

# उनकी सेवा और काम के लिए साल 1956 में भारत सरकार की ओर से पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। डॉ. मुथुलक्ष्मी रेड्डी का साल 1968 में 81 वर्ष की आयु में निधन हो गया था।

Provide Comments :




Related Posts :