Forgot password?    Sign UP
ग्रेटा थनबर्ग को टाइम ‘पर्सन ऑफ द ईयर 2019’ चुना गया

ग्रेटा थनबर्ग को टाइम ‘पर्सन ऑफ द ईयर 2019’ चुना गया





2019-12-12 : हाल ही में, टाइम पत्रिका ने जलवायु परिवर्तन कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग को साल 2019 के लिए पर्सन ऑफ द ईयर चुना है। पाठकों को बता दे की यह सम्मान ग्रेटा ने सबसे कम उम्र में हासिल किया है। वे अपने प्रभावशाली एवं आक्रमक भाषणों को लेकर चर्चा में रही हैं। ग्रेटा थनबर्ग ने साल 2019 में संयुक्त राष्ट्र की क्लाइमेट एक्शन समिट में भी भाषण दिया था। इस भाषण की विश्वभर में काफी तारीफ हुई थी। बता दें कि ग्रेटा एस्पर्गर सिंड्रोम से पीड़ित हैं। टाइम पत्रिका ने कहा कि वह पूरे विश्व का ध्यान खींचने में कामयाब रहीं हैं, लाखों अस्पष्ट विचारों को बदला, तत्काल बदलाव का आह्वान कर बेचैनियों को एक वैश्विक आंदोलन में बदल दिया।

ग्रेटा थनबर्ग के बारे में :-

# ग्रेटा थनबर्ग का जन्म 03 जनवरी 2003 को स्टॉकहोम, स्वीडन में हुआ था।

# वे ग्लोबल वार्मिंग के ख़तरों पर केंद्रित एक स्वीडिश पर्यावरण कार्यकर्ता हैं।

# ग्रेटा जलवायु आंदोलन (क्लाइमेट मूवमेंट) के लिए स्कूल स्ट्राइक की संस्थापक हैं।

# उनके द्वारा चलाया जा रहा आंदोलन साल 2018 में शुरू हुआ था, जब ग्रेटा ने स्वीडिश संसद के बाहर अकेले विरोध करना आरंभ किया।

# उन्होंने छात्रों को जलवायु परिवर्तन पर कार्रवाई करने हेतु विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के लिए प्रेरित किया।

# उन्होंने पेरिस समझौते के अनुसार कार्बन उत्सर्जन को कम करने हेतु स्वीडन की संसद के सामने विरोध किया।

Provide Comments :





Related Posts :