Forgot password?    Sign UP
बिनॉय बहल को मेड्रिड फिल्म फेस्टिवल में सर्वश्रेष्ठ डॉक्यूमेंट्री प्रोड्यूसर का पुरस्कार प्रदान किया गया |

बिनॉय बहल को मेड्रिड फिल्म फेस्टिवल में सर्वश्रेष्ठ डॉक्यूमेंट्री प्रोड्यूसर का पुरस्कार प्रदान किया गया |





0000-00-00 : हाल ही में फ़िल्मकार बिनॉय बहल ने जुलाई 2015 के अंतिम सप्ताह में मेड्रिड फिल्म फेस्टिवल के दौरान सर्वश्रेष्ठ डॉक्यूमेंट्री प्रोड्यूसर का पुरस्कार प्राप्त किया गया है | तथा उन्हें “इंडियन रूट्स ऑफ़ तिब्बतियन बुद्धिज़्म” शीर्षक डॉक्यूमेंट्री के निर्माण और निर्देशन के लिए सम्मानित किया गया | बता दे की बहल ने यह डॉक्यूमेंट्री विदेश मंत्रालय के एक्सपीडी विभाग के लिए बनायी थी जिसे विदेश मंत्रालय द्वारा फरवरी 2014 में रिलीज़ किया गया था |
फिल्म को बड़े पैमाने पर तिब्बत, कलमीकिया, यूरोपीय रूस, लद्दाख, स्पीति, अरुणाचल प्रदेश, नालंदा, बोधगया, सारनाथ और कर्नाटक में फिल्माया गया | फिल्म तिब्बत के बुद्धिज़्म की जड़ों को भारत के नालंदा विश्वविद्यालय से सफलतापूर्वक जोड़ती है तथा भारत के तिब्बत के साथ सैंकड़ों वर्ष पुराने रिश्तों की अहमियत भी बताती है | इस डॉक्यूमेंट्री में विभिन्न तिब्बतियन गुरुओं तथा विचारकों के अतिरिक्त दलाई लामा एवं सामधोंग रिनपोछे को भी दिखाया गया है |

Provide Comments :





Related Posts :