Forgot password?    Sign UP
ओडिशा में रज पर्व मनाया गया

ओडिशा में रज पर्व मनाया गया





2020-06-18 : हर वर्ष मिथुन संक्रांति के दिन से ओडिशा राज्य में रज पर्व अथवा राजा पर्व मनाया जाता है। धार्मिक मान्यता है कि जिस दिन सूर्य वृषभ राशि से निकलकर मिथुन राशि में प्रवेश करता है, उस दिन से वर्षा ऋतु का आगमन होता है। इस मौके पर ओडिशा में रज पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। पाठकों को बता दे की यह पर्व चार दिनों तक चलता है। इस वर्ष यानी 2020 में 14 जून को मिथुन संक्रांति है। जबकि रज पर्व 15 जून से 18 जून तक है।

रज पर्व के बारे में और अधिक :-

# इस दिन लोग साल की पहली बारिश का जश्न मनाकर स्वागत करते हैं।

# इन चार दिनों में अच्छी बारिश और खेती के लिए धरती मां की पूजा की जाती है।

# इस पर्व में औरत, बड़े और बच्चे सभी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं।

# पहले दिन को पहिली राजा कहते हैं

# दूसरे दिन को मिथुना संक्रांति कहा जाता है

# तीसरे दिन को दाहा कहा जाता है

# जबकि चौथे दिन को वसुमती स्नान कहते हैं

Provide Comments :





Related Posts :