Forgot password?    Sign UP
प्रशिद हिंदी कवि

प्रशिद हिंदी कवि "वीरेन डंगवाल" का निधन हुआ |





0000-00-00 : हिंदी कवि और वरिष्ठ पत्रकार वीरेन डंगवाल का 28 सितंबर 2015 को बरेली में निधन हो गया। वे 68 साल के थे। 5 अगस्त 1947 को टिहरी गढ़वाल के कीर्तिनगर में जन्मे वीरेन डंगवाल को वर्ष 2002 का साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला था। वीरेन डंगवाल अमर उजाला, कानपुर के संपादक भी रहे। उनके पहले कविता संकलन "इसी दुनिया में" को रघुवीर सहाय स्मृति पुरस्कार तथा श्रीकान्त वर्मा स्मृति पुरस्कार मिला। वर्ष 2002 में आए उनके दूसरे कविता संग्रह "दुष्चक्र में सृष्टा" को साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया गया।

Provide Comments :





Related Posts :