Forgot password?    Sign UP
 भारतीय मूल के अमेरिकी राकेश के जैन अमेरिका के राष्ट्रीय विज्ञान पदक 2015 के लिए चयनित किये गये |

भारतीय मूल के अमेरिकी राकेश के जैन अमेरिका के राष्ट्रीय विज्ञान पदक 2015 के लिए चयनित किये गये |





2015-12-24 : भारतीय मूल के अमेरिकी प्रोफेसर राकेश के जैन 22 दिसंबर 2015 को संयुक्त राज्य अमेरिका में विज्ञान के राष्ट्रीय पदक (अमेरिका) 2015 के लिए चुने गए। जैन हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में प्रोफेसर और मैसाचुसेट्स जनरल अस्पताल में ट्यूमर जीवविज्ञान प्रयोगशाला के निदेशक है। व्हाइट हाउस में 2016 में आयोजित समारोह में विज्ञान और प्रौद्योगिकी और नवाचार के लिए राष्ट्रीय पदक से 16 अन्य विजेताओं के साथ-साथ उन्हें सम्मानित किया जाएगा।

प्रोफेसर राकेश के जैन के बारे में :-

# प्रोफेसर जैन ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर से केमिकल इंजीनियरिंग में बीटेक किया है।

# प्रो जैन को ट्यूमर की सूक्ष्मतम जानकारी के लिए जाना जाता है। ट्यूमर जीव विज्ञान, दवा वितरण, विवो इमेजिंग और बायोइन्जिनियरिंग में व्यापक रूप से मौलिक खोजों के लिए उनकी पहचान है।

# ट्यूमर में आणविक और नैनो दवाओं के वितरण और प्रभावकारी बाधाओं के निवारण रणनीति विकसित करना उनके कार्यों में शामिल रहे हैं।

# वे अमेरिका की तीनों शाखाओं के सदस्य है, जिनमे के नेशनल एकेडमी ऑफ़ मेडिसिन, नेशनल एकेडमी ऑफ इंजीनियरिंग और नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज और आर्ट्स हैं।

# अमेरिकन सोसायटी की 50 वीं वर्षगांठ के अवसर पर 2014 में उन्हें क्लीनिकल ऑन्कोलॉजी में 50 में से एक चुना गया।

नेशनल मेडल ऑफ साइंस के बारे में :-

# नेशनल मेडल ऑफ साइंस 1959 में राष्ट्रीय विज्ञान फाउंडेशन द्वारा बनाया गया। और इसे व्हाइट हाउस द्वारा संचालित किया जाता है।

# नेशनल मेडल ऑफ साइंस से प्रतिवर्ष उन लोगो को सम्मानित किया जाता है जो विज्ञान और इंजीनियरिंग के लिए उत्कृष्ट योगदान करते है।

# विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में आगे बढ़ने में उपलब्धि और नेतृत्व के लिए इस सम्मान को संयुक्त राज्य अमेरिका में सर्वोच्च सम्मान के रूप में माना जाता है।

Provide Comments :




Related Posts :