Forgot password?    Sign UP
वर्ष 2016 में GDP ग्रोथ में चीन को पीछे छोड़ेगा भारत|

वर्ष 2016 में GDP ग्रोथ में चीन को पीछे छोड़ेगा भारत|





2016-01-10 : 2016 में भारत इमर्जिंग इकोनॉमी में स्टार परफार्मर होगा और लगातार दूसरे साल उसकी ग्रोथ रेट चीन से अधिक होगी। ग्लोमबल कंसल्टिंग फर्म पीडब्यू्मर सी की रिपोर्ट के अनुसार, 2016 में भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट 7.7 फीसदी रह सकती है। इस दौरान चीन की ग्रोथ 6.5 फीसदी रहने की उम्मीनद है। पीडब्यूग सी यूके के चीफ इकोनॉमिस्टस जॉन हॉक्स वर्थ का कहना है कि उम्मीद है कि अमेरिका की इकोनॉमी में रिकवरी 2016 में तेज होगी। यूके में कंज्यू मर डिमांड ग्रोथ को पुश करेगी। यूरो जोन का संकट इस साल खत्मर होना चाहिए। हॉक्स वर्थ का कहना है कि ब्रिक्स् देशों में भी ग्रोथ में खास तेजी नहीं दिखाई देगी। हालांकि भारत की रफ्तार पर इसका असर नहीं होगा और उसकी ग्रोथ की रफ्तार में तेजी बनी रहेगी।

क्या कहती है PWC की रिपोर्ट :-

# 2016 में सात इमर्जिंग इकोनॉमिक्स (चीन, इंडिया, ब्राजील, मैक्सिको, रूस, इं‍डोनेशिया और टर्की) में भारत स्टाबर परफार्मर होगा।

# इस साल रूस और ब्राजील की इकोनॉमी में सिमटेगी, जबकि चीन में सुस्तीो रहेगी।

# लगातार दूसरे साल भारत की ग्रोथ रेट चीन से अधिक रहेगी। 2016 में रीयल टर्म में भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट करीब 7.7 फीसदी रह सकती है।

# चीन की जीडीपी ग्रोथ 2016 में सिमटकर 6.5 फीसदी रहने का अनुमान है। चीन में मैन्युंफैक्चकरिंग और एक्सगपोर्ट की ग्रोथ में धीरे-धीरे गिरावट आ रही है।

# 2016 में G-7 (यूएस, यूके, जापान, जर्मनी, फ्रांस, इटली और कनाडा) की ग्रोथ रेट 2010 के बाद सबसे तेज होगी।

Provide Comments :





Related Posts :